जेएनएन, बुलंदशहर : कृषि विज्ञान केंद्र में दिल्ली स्थित आईसीएआर-एनसीआईपीएम योजना के अंतर्गत कृषक मेले का आयोजन किया गया। मेले में गांव मनसुखगढ़ी, छपरावत, गिझौरी, किला मेवई तथा मालागढ के 15-15 अनुसूचित जाति के बीपीएल कार्डधारकों महिला किसानों को ट्राइकोडर्मा, स्यूडोमोनास, बिवैरिया, बेसियाना, मेटाराइजियम, इंसेक्ट नेट, हैंड हो, स्प्रे मशीन, कीटनाशी पालीथीन आदि वितरित किए गए। योजना प्रभारी डा. रीशू सिंह ने फसलों को हानि पहुॅचाने वाले कीटों तथा रोगों की रोकथाम के लिए कीटनाशियों के अतिरिक्त उपलब्ध विभिन्न कीटों की प्रति जागरूक किया। बताया कि कृषि में रसायनों पर निर्भरता कम करेंगे और प्राकृति हितैषी तरीकों का अपनायएंगे तो प्राकृतिक स्त्रोतों में होने वाले प्रदूषण को कम कर सकेंगे। प्रधान वैज्ञानिक डा. अजंता विराह, डा. एस वेनिला और एसके कन्नोजिया आदि ने किसानों को कीटनाशी रसायनों की बाबत जागरुक किया। मेले का उद्घाटन बीकानेर कृषि विज्ञान केंद्र के सेवानिवृत्त प्रोफेसर डा. अतुल चंद्रा ने किया। कृषि अनुसंधान केंद्र प्रभारी डा. शिवसिंह ने किसानों को जैविक माध्यमों जैसे यलो ट्रैप, फ्रूट फ्लाई ट्रैप, ट्राइकोडर्मा आदि गृह स्तरीय उत्पादन का प्रशिक्षण देने की भी बात कही। कृषक मेले में डा. मनोज कुमार, रामानंद पटेल, राजकुमार गर्ग, प्रकाश पाल, जईम खां आदि मौजूद रहे।

सीडीपीओ चयनित होने पर पूनम को किया सम्मानित

बुलंदशहर: क्षेत्र के गांव लच्छमपुर की होनहार युवती पूनम का बाल विकास परियोजना अधिकारी पद पर चयन होने पर समाज के लोगों ने घर जाकर शुभकामनाएं देकर खुशी प्रकट की।

गुरूवार को डा.बीआर अम्बेडकर सेवा समिति के बैनर तले समाज के लोगों ने गांव लच्छमपुर निवासी स्व.वीरपाल सिंह की बेटी पूनम का बाल विकास परियोजना अधिकारी पद पर चयन होने पर उसको सम्मानित किया गया। कोचिग तथा धनाभाव के अभाव में कड़ी मेहनत करके अपनी प्रतिभा को सबके सामने दिख दिया है। पूनम की उपलब्धि से समाज के अन्य बच्चों को सीख लेकर शिक्षित होने पर बल दिया। समाज के ओर से पूनम को स्मृति चिह भेटकर शुभकामनाएं दी गई। इस मौके पर अशोक कुमार, मंजिल कांत, हरिशचंद एड., ओमवीर सिंह, गजराज सिंह, प्रमोद कुमार, विनोद कुमार, शशिकांत, संघप्रकाश आदि मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप