बुलंदशहर, जेएनएन। कोविड-19 की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन ने आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को सुबह-शाम तीन-तीन घंटे खोलने के निर्देश दिए हैं, ताकि आमजन को कोई परेशानी न हो। ऐसे में दुकानदार लाकडाउन का बहाना लेकर ओवर रेटिग कर रहे हैं। सिकंदराबाद में जिला बाट-माप तौल अधिकारी, खाद्य आपूर्ति अधिकारी, नायब तहसीलदार और मंडी सचिव के नेतृत्व में छापेमारी की गई। इस दौरान दो दुकानदारों के खिलाफ विधिक माप विज्ञान अधिनियम के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कराया गया है जबकि चार दुकानदारों से जुर्माना वसूला गया है।

जिला बाट-माप तौल अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि सिकंदराबाद की कोतवाली रोड स्थित खुशहाल जनरल स्टोर एवं गिफ्ट सेंटर पर छापेमारी की गई। बताया कि सरसों के एक मार्का पर 145 रुपये प्रति किलो की एमआरपी थी लेकिन टीम के सदस्य को खरीदने के लिए भेजा गया तो दुकानदार ने 160 रुपये में तेल दिया। इसके साथ ही दनकौर रोड स्थित शोभित जनरल स्टोर पर भी छापेमारी की गई। दुकानदार बरेली निर्मित चक्र मार्का ऑयल पर 155 रुपये कीमत दर्शायी गई थी लेकिन दुकानदार ने इसे 160 रुपये में बेचा। राजेश कुमार ने बताया कि दोनों दुकानदारों के खिलाफ विधिक माप विज्ञान अधिनियम के अंतर्गत नगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया गया है। एसडीएम रवि शंकर ने बताया कि टीम ने छिटपुट अन्य कार्रवाई भी की है। इसमें दुकानदार से 200 से 400 रुपये तक का जुर्माना भी वसूला गया है। उन्होंने बताया कि आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी अथवा ओवर रेटिग किसी भी सूरत में बाजार में नहीं होने दी जाएगी और आमजन के हितों के लिए छापेमारी जारी रहेगी।

Edited By: Jagran