बुलंदशहर, जेएनएन : वायु प्रदूषण को लेकर देश भर में चर्चा हो रही है। ऐसे में गुरुवार को संसद में जलवायु परिवर्तन और वायु प्रदूषण विषय पर हुई चर्चा में स्थानीय सांसद ने अपनी बात रखी। सांसद ने वायु प्रदूषण के नाम पर किसानों का उत्पीड़न बंद करने और बढ़ती जनसंख्या को वायु प्रदूषण के लिए मुख्य कारण बताते हुए नियंत्रण करने के कदम उठाने की मांग की।

दीपावली के बाद से एनसीआर में बढ़े वायु प्रदूषण को कम करने की तमाम कवायद की जा रही है। ऐसे में गुरुवार को जलवायु परिवर्तन और वायु प्रदूषण को लेकर चर्चा की गई। चर्चा में भाग लेते हुए स्थानीय सांसद डा. भोला सिंह ने जहां वायु प्रदूषण के लिए बढ़ी जनसंख्या को मुख्य कारण बताया, वहीं प्रदूषण रोकने के नाम पर हो रहे किसानों के उत्पीड़न की पीड़ा को भी संसद के समक्ष रखा। सांसद ने कहा कि छोटे किसानों द्वारा चलाए जाने वाला कोल्हू को जबरन प्रदूषण के नाम पर बंद कराया जा रहा है और जुर्माना लगाया जा रहा है। ऐसे ही पराली जलाने के नाम पर भी किसानों का उत्पीड़न हो रहा है। जबकि, प्रदूषण के लिए सबसे अधिक कारक बढ़ती जनसंख्या हैं। जनसंख्या में लगाम लगाने के लिए अब जरूरी कदम उठाए जाने की जरूरत है। सांसद ने बताया कि एनसीआर क्षेत्र में बढ़ती जनसंख्या के कारण तमाम तरह की समस्याएं बढ़ रही हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस