बुलंदशहर, जेएनएन। यमुनापुरम स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल के दो दिवसीय वार्षिकोत्सव का सोमवार को रंगारंग कार्यक्रमों के साथ समापन हो गया। प्रधानाचार्य ने वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत की। मुख्य अतिथि राज्यमंत्री अनिल शर्मा रहे।

वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री अनिल शर्मा ने कहा कि आज के बच्चे ही कल का भविष्य हैं। कोई भी लक्ष्य हौसले और मेहनत से बड़ा नहीं होता। बच्चों को गुरुओं के प्रति हमेशा आदर भाव रखना चाहिए। प्रधानाचार्य डा. हरिशंकर वशिष्ठ ने डीआइओएस आरके तिवारी, भाजपा जिलाध्यक्ष अनिल शिशौदिया, अभिभावक संघ के सदस्यों को पुष्पगुच्छ और अंगवस्त्र देकर उनका स्वागत किया। आइएएस राजीव शर्मा ने कहा कि आज नौकरी ही नहीं पढ़ाई में भी प्रतिस्पर्धा काफी बढ़ गई है। छात्र-छात्राओं के अंदर भारतीय परंपरा, ऋषि मुनियों के प्रति आदर सत्कार भाव और संस्कृति और संस्कारों का भाव जीवन पर्यत रहना चाहिए। कार्यक्रम के अंत प्रधानाचार्य डा. हरिशंकर वरिष्ठ ने कहा कि संस्कार विहीन शिक्षा समाज को गर्त में धकेल देती है। बच्चों के माता-पिता तो संस्कार देते ही हैं। शिक्षक और स्कूल भी संस्कार देते हैं। बच्चे, अभिभावक, शिक्षक और शहर के गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस