बुलंदशहर (जेएनएन)। पीएम नरेंद्र मोदी को स्क्रीन पर देखते ही बुलंदशहर का रविंद्र नाट्यशाला सभागार जिंदाबाद और भारत माता की जय के नारों से गूंज उठा। सीधा संवाद करते हुए मोदी ने यही कहा कि पिछले चुनाव में माता वैष्णोदेवी से दर्शन कर सीधा बुलंदशहर आया था तो जनता ने रिकार्ड मतों से जिता दिया। इसके साथ की एप के बारे में जानकारी दी। इसके माध्यम से लोगों को जोड़ने का संकल्प लेने को कहा। कार्यकर्ताओं के मन की बात सुनी और उनका यथोचित जवाब भी दिया।

  • स्थान: नुमाइश मैदान का रविंद्र नाट्यशाला 
  • समय: 4.55 बजे 
  • दृश्य: स्क्रीन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देखते ही कार्यकर्ता उत्साहित और मोदी जिंदाबाद व भारतमाता की जय से गूंजा सभागार 

प्रधानमंत्री का जैसे ही बड़ी स्क्रीन पर लाइव टेलीकॉस्ट शुरू हुआ तो कार्यकर्ताओं में उत्साह देखने लायक था। प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए कहा कि आपको याद हो न हो लेकिन मुझे याद है। पिछले लोकसभा चुनाव में 26 मार्च 2014 को मैं माता वैष्णोदेवी से दर्शन कर सीधा बुलंदशहर आया था। बुलंदशहर की जनता ने 2014 में भाजपा को रिकार्ड मतों से जीत दिलाई थी। उस समय यहां 100 गांवों में बिजली नहीं थी। मंडी से जुड़े किसान अपनी फसल को मंडी में बेचने के लिए इधर-उधर जाते थे। इसके बाद उन्होंने यह कहकर अपनी बातों को विराम दिया कि मैं ही बोलता रहूं ये ठीक नहीं है। 

कार्यकर्ताओं को जीत के मंत्र 

मोदी ने बूथ अध्यक्षों से सीधा संवाद शुरू करते हुए आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर कार्यकर्ताओं को जीत के मंत्र दिए। इस दौरान उन्होंने 2014 से पहले देश की स्थिति बताते हुए अपने चार साल के कार्यकाल की उपलब्धियों को गिनाया। 2014 से पहले पांच जलमार्ग थे, उनमें भी एक मार्ग थोड़ा बहुत काम कर रहा था। आज गंगा में भी बड़ा जहाज चल रहा है। देश में पहले सबसे तेज चलने वाली शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन थी, लेकिन अब देश में सेमीहाईस्पीड अत्याधुनिक सुविधाओं वाली ट्रेन दौड़ रही हैं। 5.15 बजे तक वे बुलंदशहर के कार्यकर्ताओं से रूबरू हुए। 

नमो एप की दी विस्तार से जानकारी 

प्रधानमंत्री मोदी ने नमो एप के बारे में कार्यकर्ताओं पहले यह पूछा कि कितने लोगों ने नमो एप डाउनलोड कर रखा है और कितने लोग खबरों को आगे पहुंचाते हैं? अधिकांश लोगों ने हाथ उठा दिए। कहा कि इस एप में 13-14 भाषाओं में जानकारी दी जा रही है। एक सेक्शन है, जिसके माध्यम से सरकारी की योजनाओं के साथ अन्य कई तरह की जानकारी मिलती है। वाट्सएप-वाट्सएप करने वालों के लिए भी उसमें सेक्शन है। मर्चेंट व डोनेशन सहित कई तरह के सेक्शन भी है। इसके माध्यम से लोगों को भाजपा से जोडऩे का संकल्प लेना होगा। 

पीएम से सवाल करते उलझीं बूथ अध्यक्ष 

वहां मौजूद बूथ अध्यक्ष प्रधानमंत्री से सवाल करते समय शुरूआत में ही अटक गईं, लेकिन बाद में उसने संभलते हुए लिखकर लाए गए सवाल को पढ़ा और इसके बाद मोदी ने उनके सवाल का जवाब दिया। मोदी बुलंदशहर से पहले छत्तीसगढ़ के कोरबा क्षेत्र के कार्यकर्ताओं से मुखातिब हुए। पहले बुलंदशहर का नंबर तीसरा बताया गया था, लेकिन कोरबा के तुरंत बाद बुलंदशहर के कार्यकर्ताओं से संवाद शुरू हो गया। जिलाध्यक्ष हिमांशु मित्तल ने बताया कि प्रधानमंत्री से बात करने वालों के नाम सीधे राष्ट्रीय स्तर से भेजे गए थे। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस