जेएनएन, बुलंदशहर। ऊंचागांव क्षेत्र के नरेंद्रपुर में विवाहिता को दहेज के लिए मिट्टी का तेल उड़ेलकर जिदा जलाने का प्रयास किया। हालत गंभीर होने पर विवाहिता को दिल्ली मेडिकल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने विवाहिता के पिता की तहरीर पर पति सहित छह ससुरालीजनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस जांच में घरेलू विवाद सामने आया है।

नई मंडी चौकी क्षेत्र के गांव हीरापुर निवासी जसवंत सिंह अपनी पुत्री पुष्पा की शादी करीब छह वर्ष पूर्व थाना नरसेना क्षेत्र के गांव नरेंद्रपुर निवासी अजय पाल पुत्र होशियार सिंह के साथ की थी। शादी में अपनी हैसियत के अनुसार शादी में दहेज दिया था। जिससे ससुराल पक्ष के लोग खुश नहीं थे। 20 जुलाई को पति अजय पाल ने अपने स्वजन के साथ मिलकर मिट्टी का तेल उड़ेलकर पुष्पा को आग के हवाले कर दिया। सूचना पर मायके वाले पहुंचे और उसे गंभीर हालत में ऊंचागांव स्थित अस्पताल में भर्ती कराया। चिकित्सकों ने उसे दिल्ली के लिए रेफर कर दिया। जहां पुष्पा का उपचार जारी है और हालत गंभीर है। विवाहिता के पिता की तहरीर पर पति अजयपाल, ससुर होशियार, सास चंद्रवती, देवर लव कुश व योगेश, चचिया ससुर बंटी के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

चाय बनाते हुए जली पुष्पा

पति अजय पाल ने बताया था कि चाय बनाते समय दुपट्टे में आग लगने से पुष्पा झुलस गई है। आग को बुझाने के प्रयास में अजय पाल के दोनों हाथ भी जल गए। नरसेना थाना प्रभारी ने बताया कि पुलिस मौके पर पहुंची थी। हादसे के समय विवाहिता की मां भी उसकी ससुराल में थी और दो दिन पूर्व ही बेटी से मिलने आई थी।

झुलसी महिला के आज होंगे बयान दर्ज

घटना के समय पुष्पा के बच्चे पांच वर्षीय बेटी साक्षी, तीन वर्षीय ऋषभ और डेढ वर्षीय निशांत भी मौके पर मौजूद थे। थाना प्रभारी ने बताया कि विवाहिता के पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया है। शनिवार को दरोगा को भेजकर पुष्पा के बयान दर्ज कराए जाएंगे।

इन्होंने कहा..

प्रथम जांच में महिला 30 प्रतिशत जली थी, पुलिस ने उपचार के लिए भेज दिया है। शनिवार को दिल्ली मेडिकल में दरोगा को भेजकर बयान दर्ज कराए जाएंगे। महिला के बयानों के आधार पर कार्रवाई होगी।

-अलका, सीओ स्याना।

Edited By: Jagran