बुलंदशहर, जेएनएन। कोतवाली देहात क्षेत्र के अनूपशहर अड्डे के पास स्थित आनंद विहार कालोनी में मंगलवार दोपहर एक हादसे में दो सगी बहनों की जान चली गई। मरने वाली दोनों बच्चियां है। जिस समय वह अपने घर से बाहर निकल रही थी। उसी समय रोड पर आते ही ट्रक ने उन्हें कुचल दिया।

कोतवाली देहात की नई मंडी चौकी इंचार्ज प्रताप बालियान ने बताया कि 40 फूटा रोड स्थित आनंद विहार में नन्नू अपने परिवार के साथ रहता है। नन्नू का मकान रोड पर ही है। मंगलवार सुबह नन्नू मजदूरी करने के लिए किसी गांव में चला गया। दोपहर के करीब 11 बजे नन्नू की बेटी नौ वर्षीय गुलफ्शां और चार वर्षीय महक खेलने के लिए खाली पड़े प्लॉट में जा रही थी। जैसे ही वह अपने मकान से निकलकर रोड पर आई तो कालोनी में ही मकान के सामने से गुजर रहे एक ट्रक ने दोनों को कुचल दिया, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। भीड़ ने ट्रक चालक को पकड़ लिया और उसकी पिटाई भी की गई। पुलिस मौके पर पहुंची और ट्रक चालक को हिरासत में लेकर कोतवाली देहात में भिजवाया। वहीं, दोनों शवों को शाम के समय बच्चियों के परिजनों को सौंप दिया है। कोतवाली देहात प्रभारी अखिलेश कुमार ने बताया कि ट्रक चालक बंटी पुत्र भवंरपाल निवासी मचकोली थाना कोतवाली देहात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

हादसा देख कांप उठी रूह

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हादसा इतना भयंकर था कि जिसने भी देखा उसकी रूह कांप गई। दोनों बच्चियों के शव टायर से चिपक गए। पुलिस और स्थानीय लोगों ने उनके शवों को टायरों के बीच से कड़ी मशक्कत के बाद निकाला।

कम स्पीड होती तो न जाती जान

दरअसल, चालक बंटी आनंद विहार में किसी काम से गया था। जब वह ट्रक लेकर वहां से गुजर रहा था तो उसकी स्पीड अधिक थी। स्पीड अधिक होने के कारण वह ट्रक को कंट्रोल नहीं कर सका। जिस कारण हादसा हो गया। स्पीड कम होती तो शायद बच्चियों की जान बच सकती थी। हालांकि बंटी का कहना है कि अचानक बच्चियां उसके ट्रक के सामने आई और उसे दिखाई नहीं दी। जिस कारण हादसा हुआ।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप