बुलंदशहर, जेएनएन। भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) के बैनर तले जेवर मार्ग पर पंचायत आयोजित की गई। जिसमें क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं को लेकर चर्चा की गई और उनके निस्तारण की मांग अधिकारियों से की। इस दौरान शीघ्र समस्याओं का समाधान नहीं होने पर किसानों ने महापंचायत करने की चेतावनी दी।

जहांगीरपुर कस्बे में जेवर मार्ग पर आयोजित भाकियू की पंचायत में पहुंचे संगठन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि कार्यकर्ताओं और किसानों को एकजुट रहकर अपने हक की लड़ाई लड़नी चाहिए। साथ ही शासन-प्रशासन तक अपनी मांगों को पहुंचाने के लिए हर संभव प्रयास किया जाना चाहिए। जिससे अधिकारी किसानों की मांगों को पूरा करने के लिए विवश हो जाए। इसके अलावा उन्होंने कहा कि किसानों का उत्पीड़न किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अगर किसानों का उत्पीड़न होता है, तो भाकियू के पदाधिकारी और कार्यकर्ता उनके हक के लिए कदम से कदम मिलाकर लड़ाई लड़ने को तैयार हैं। जिसके बाद पंचायत में अधिग्रहित हुई जमीनों के मुआवजे, बेसहारा पशुओं को पकड़कर गोशाला पहुंचाने, रजवाहों की साफ-सफाई कराकर पानी छोड़ने, गांवों में मच्छरों से मुक्ति के लिए दवा का छिड़काव करने, विद्युत की जर्जर लाइनों को बदलने आदि को लेकर चर्चा की। साथ ही पंचायत में पहुंचे जेवर तहसीलदार दुर्गेश और यमुना विकास प्राधिकरण से नवनीत गोयल को किसानों ने शिकायतें सौंपी। वहीं शीघ्र सुनवाई नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी। इसमें महेंद्र सिंह चौरोली, सतीश चौधरी, हरेंद्र सिंह, रवि जादौन, अवधेश छौंकर, टेकचंद शर्मा, संजय भारद्वाज, हरेंद्र चौधरी, संदीप, रवि जादौन, आदित्य, शंकर आदि रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस