जेएनएन, बुलंदशहर। बुधवार को अच्छी बरसात होने से किसानों के चेहरे खिल उठे। वहीं दूसरी तरफ गर्मी से भी लोगों को राहत मिली। किसानों का कहना है कि धान की फसल के लिए बरसात वरदान साबित होगी।

पिछले सप्ताह महज एक बार बरसात हुई थी। जिसके बाद सप्ताह भर बूंदाबांदी के अलावा अच्छी बरसात नहीं हुई। ऐसे में धान की फसल लगाने वाले किसानों की चिंता बढ़ गई थी। मंगलवार रात अचानक मौसम ने फिर करवट ली और झमाझम बारिश हुई। बरसात होने का सिलसिला बुधवार को दिनभर चलता रहा। ऐसे में किसानों के चेहरे खिल उठे। क्षेत्र के गांव सहारनपुर निवासी किसान अरब सिंह, वीरेंद्र, सुभाष, आलोक आदि का कहना है कि बरसात से उन्हें काफी राहत मिली। साथ ही अच्छी बरसात धान की फसल के लिए भी लाभदायक है। सिचाई का खर्चा भी बरसात होने के बाद कम आता है। वहीं रोग भी कम लगता है। अध्यापकों ने स्कूल प्रांगण में लगाए पौधे

बरसात शुरू होते ही अध्यापकों ने अपने स्कूलों में पौधे लगाने शुरू कर दिए हैं। बुधवार को अध्यापकों ने सबलपुर गांव के सरकारी स्कूल में लघु कार्यक्रम आयोजित कर पौधे लगाए। कार्यक्रम में अध्यापकों ने ब्लाक की नवागत बीईओ कुसुम सैनी का स्वागत किया। साथ ही उनसे अपनी कई विभागीय मांगे रखीं। बीईओ कुसुम रानी ने सभी अध्यापकों से परिचय प्राप्त करते हुए समय से स्कूल आने की अपील की। इसके अलावा अध्यापकों से मोहल्ला क्लास को सुचारू रूप से चलाने की अपील की। कार्यक्रम में विवेक कुमार त्रिपाठी, डा. गजेंद्रपाल सिंह, हरनारायण शमर, शुभम कुमार, सुशील कुमार शमर समेत बड़ी संख्या में अध्यापक मौजूद रहे।

Edited By: Jagran