- त्योहारी सीजन में भी सफाई व्यवस्था के लिए नहीं बना कोई प्लान

बुलंदशहर, जेएनएन। दीपावली के त्योहार में छह दिन शेष रह गए हैं, बावजूद इसके शहर की साफ-सफाई के लिए मजबूत प्लान नहीं बना है। शहर में सड़क से गली और चौराहों तक कूड़े के ढेर लगे हुए हैं। शहर का ये हाल तो तब है, जबकि सफाई व्यवस्था पर हर माह एक करोड़ से अधिक की रकम खर्च हो रही है। त्योहारी सीजन में गंदगी से शहरवासियों में रोष व्याप्त है।

शहर की सफाई के लिए पालिका के पास करीब 200 सफाई कर्मचारी हैं, इतने ही कर्मचारी ठेकेदार और संविदा के भी हैं। करीब बीस वाहन कूड़ा उठाने के लिए लगे हैं। दस वार्डो की सफाई व्यवस्था ठेके पर चल रही है। बावजूद इसके सफाई व्यवस्था बुरी तरह चरमराई हुई है। शहर में कचहरी रोड, भूड़ चौराहा, बीएसएनएल दफ्तर के पास, शिकारपुर रोड, हाइडिल कालोनी के पास, पुरानी जेल, काली नदी रोड, मोतीबाग, बाइपास, स्याना अड्डा, अनूपशहर अड्डा, काली नदी रोड, गिरधारीनगर, नुमाइश मैदान और देवीपुरा आदि स्थानों पर कूड़े के ढेर लगे हुए हैं। कई बार पालिका में जाकर लोग शिकायत कर चुके हैं, लेकिन कूड़े से निजात नहीं मिल रही है।

नालों में भी कूड़ा

सड़क ही नहीं नालों में भी कूड़ा भरा पड़ा है। पानी में कूड़ा पड़ने से सड़ रहा है। नाले चोक हो रही हैं। एडीएम प्रशासन भी शहर का निरीक्षण कर सफाई के निर्देश दे चुके हैं लेकिन सुधार नहीं हो रहा है। इन्होंने कहा.

कूड़ा न उठने की शिकायतें आ रही हैं। सफाई निरीक्षक और कर्मचारियों को सफाई के निर्देश दिए गए हैं। जिस सफाईकर्मी के क्षेत्र में गंदगी मिलेगी, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

-डा. पंकज सिंह, ईओ पालिका

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप