जेएनएन, बुलंदशहर :

सात माह पूर्व हुए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दौरान सहायक शिक्षिका ने सिटी मजिस्ट्रेट पर अभद्रता का आरोप लगाते हुए कोर्ट के निर्देश पर मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

सिकंदराबाद के फरीदपुर क्षेत्र की सहायक शिक्षिका शिखा सोलंकी ने नगर कोतवाली में दर्ज कराई रिपोर्ट में बताया है कि 28 अप्रैल 2021 को उसकी डयूटी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में लगी थी। मतदान केंद्र पर पहुंचकर उसने आवश्यक कार्य पूर्ण किए और पीठासीन अधिकारी से अनुमति लेकर घर पर अकेले मौजूद बच्चों के पास आ गई। इसकी जानकारी सेक्टर मजिस्ट्रेट नरेंद्र सिंह एवं बीएसए अखंड प्रताप सिंह को उनके व्हाट्सएप पर भी दे दी गई। आरोप है कि तत्कालीन खंड शिक्षा अधिकारी सदर सेक्टर मजिस्ट्रेट नरेंद्र सिंह ने फोन करके अभद्रता की और मुकदमा दर्ज कराने धमकी भी दी। 29 अप्रैल को मतदान की डयूटी के उपरांत उनके द्वारा सारे चुनावी कार्य किए गए। इसके बावजूद सेक्टर मजिस्ट्रेट द्वारा उनका चुनाव डयूटी पारिश्रमिक रोककर अपने पास रख लिया गया। डीएम के निर्देश पर मामले की जांच की गई, जिसमें सेक्टर मजिस्ट्रेट नरेंद्र सिंह पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की संस्तुति की गई। नगर कोतवाली प्रभारी संजीव कुमार शर्मा ने बताया कि मामले में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। नियमानुसार जांच कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। सहायक शिक्षिका शिखा सोलंकी ने बताया कि पुलिस ने जब मुकदमा दर्ज नहीं किया तो उन्होंने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। इसके आदेश पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

Edited By: Jagran