जेएनएन, बुलंदशहर : कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी शुरू कर दी हैं। बच्चों के लिए कोविड अस्पतालों में बेड आरक्षित करने के साथ निगरानी समिति के माध्यम से दवा किट वितरित की जा रहीं हैं। जिले में प्रवेश करने लोगों को कोरोना जांच के बाद ही प्रवेश दिया जाएगा। जिले के बार्डर समेत 15 केंद्र जांच केंद्र बनाएं गए हैं।

जनपद में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर लगभग थम गई है। संभावित तीसरी लहर से निपटने को स्वास्थ्य विभाग अब तैयारी तेज कर दी हैं। विभाग ने कोरोना की जांच के लिए जिले में 15 सेंटरों पर जांच शुरू करा दी है। जनपद में आरटीपीसीआर लैब स्थापित होने के बाद अब सबसे अधिक सैंपल आरटीपीसीआर के एकत्र किए जाएंगे। स्वास्थ्य विभाग ने प्रति दिन बाहर से जिले में आने वाले 3700 लोगों की जांच करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। जिसमें 2200 आरटीपीसीआर और 1500 एंटीजन से जांच की जानी हैं। अफसरों के मुताबिक तीसरी लहर को रोकने को शासन के निर्देश पर इंतजाम किए जा रहे हैं। बार्डर पर टीम सैंपल कलेक्ट करने के लिए लगा दी गई हैं। हालांकि सीएची व पीएचसी पर पहले से ही कोरोना जांच की जा रही है।

..

जिले में 14 आक्सीजन प्लांट का हो रहा निर्माण

जनपद में आक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए 14 आक्सीजन प्लांट लगने प्रस्तावित हैं। जिला अस्पताल में आक्सीजन प्लांट का काम लगभग 80 फीसद पूरा हो चुका है।

..

यहां शुरू हुई कोरोना जांच

खुर्जा जंक्शन, रेलवे स्टेशन बुलंदशहर, चोला स्टेशन, बस स्टैंड खुर्जा, नया बस स्टैंड चांदपुर, बस स्टैंड अनूपशहर, स्याना, सिकंदराबाद, डिबाई, नरौरा, सिकंदराबाद टोल प्लाजा, दनकौर रोड, गुलावठी में सपनावत रोड, नहर पुलिस चौकी स्याना और अनूपशहर में सभी बस स्टैंड।

..

इन्होंने कहा..

तीसरी लहर से निपटने को तेजी के साथ तैयारी की जा रही है। अब बार्डर सीमाओं पर सैंपलिग शुरू करा दी गई है।

- डा. विनय कुमार सिंह, सीएमओ

Edited By: Jagran