बुलंदशहर, जेएनएन : जिला अस्पताल को आरामगाह बनाने वाले आवारा कुत्तों की रोकथाम के लिए अधिकारियों ने कवायद शुरू कर दी है। जिला अस्पताल के दो चैनर बंद करने के साथ ही एक कर्मचारी को डंडा लेकर तैनात किया गया है।

कई माह से जिला अस्पताल में आवारा कुत्तों ने परेशान किया हुआ है। ओपीडी से लेकर इमरजेंसी, सर्जिकल वार्ड से जरनल वार्ड और दफ्तरों तक आवारा कुत्ते आराम करते हुए दिखाई देते हैं। पिछले सप्ताह झाझर निवासी चार वर्षीय बच्ची खुशी के ऊपर कुपोषण वार्ड में आवारा कुत्ते ने हमला किया तो डीएम ने संज्ञान लेकर कुत्ते पकड़ने के लिए निर्देश दिए हैं। नगरपालिका की टीम ने आवारा कुत्ते पकड़ने के लिए दो दिन अभियान भी चलाया। कुत्तों के प्रवेश करने वाले गेटों पर जिला प्रशासन ने चैनर तो पहले ही लगा दिए थे, लेकिन ये बंद नहीं होते थे। अब सीएमएस डा. रामबीर सिंह ने इन चैनर को बंद कराने के साथ ही दो कर्मचारियों को कुत्ते भगाने पर लगा दिया है।

कुत्ते पकड़ने के लिए नपा को भेजा है पत्र

सीएमओ डा. केएन तिवारी का कहना है कि आवारा कुत्तों को रोकने के लिए जिला अस्पताल और पकड़ने के लिए पालिका को पत्र भिजवाया हुआ है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप