जहांगीराबाद (बुलंदशहर): टिटौटा गांव में शनिवार को लखनऊ से बाल विवाह की जानकारी मिलने पर पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी हरकत में आ गए। अधिकारी गांव पहुंचे और दुल्हन की उम्र 18 वर्ष से कम मिलने पर विवाह रुकवा दिया। उधर, हरियाणा से बरात लेकर आ रहा दूल्हा रास्ते से ही बरातियों समेत लौट गया।

कोतवाली क्षेत्र के टिटौटा गांव में शनिवार रात हरियाणा से बरात आनी थी। वधू पक्ष ने पूरी तैयारी कर ली थी। बाल विवाह की जानकारी मिलने पर एसडीएम, सीओ, जिला प्रोबेशन अधिकारी के अलावा महिला हेल्पलाइन के अधिकारी फोर्स के साथ गांव पहुंच गए। अधिकारी दुल्हन की उम्र की तस्दीक करने के लिए परिजनों को कोतवाली लेकर आ गए। परिजनों ने बेटी की उम्र के जो दस्तावेज पेश किए, उसमें उसकी उम्र 16 साल निकली।

बताया गया है कि शुक्रवार को किसी ग्रामीण ने बाल विवाह की शिकायत महिला हेल्पलाइन लखनऊ से की थी। एसडीएम सदानंद गुप्ता, सीओ जितेंद्र सिंह व जिला प्रोबेशन अधिकारी शत्रुघन कन्नौजिया ने बताया कि दुल्हन की उम्र की पुष्टि के लिए उसका मेडिकल परीक्षण कराया जा रहा है। रिपोर्ट आने के बाद ही शादी के बारे में निर्णय किया जाएगा।

Posted By: Jagran