बुलंदशहर, जागरण संवाददाता। गुलावठी विकास खंड क्षेत्र के एक सरकारी स्कूल में बड़ी लापरवाही सामने आई है। पहली कक्षा में पढ़ने वाली एक बच्ची क्लास में सो गई थी। शिक्षक क्लास रूम और स्कूल बंद कर घर चले गए। काफी देर तक बच्ची क्लास रूम में बंद रही। बाद में स्वजन व ग्रामीण पहुंचे और ताला तोड़कर बच्ची को बाहर निकाला। 

स्कूल की छुट्टी के बाद बच्ची घर नहीं पहुंची तो स्वजन को हुई चिंता 

मामला गुलावठी क्षेत्र के गांव सेगड़ापीर स्थित कंपोजिट विद्यालय का है। गुरुवार को शिक्षक की लापरवाही के चलते कक्षा एक की छात्रा करीब डेढ़ घंटे तक क्लास रूम में ही कैद रही। स्कूल की छुट्टी के बाद जब बच्ची घर नहीं पहुंची तो स्वजन को चिंता हुई। स्वजन भी ग्रामीणों के साथ स्कूल पहुंचे। स्कूल के मेन गेट पर ताला लटका हुआ था। ग्रामीण बच्ची को विद्यालय के आसपास जंगल में खोजते रहे। ग्रामीणों को स्कूल से बच्ची के रोने की आवाज सुनाई दी। स्वजन व ग्रामीण स्कूल गेट पर एकत्र हो गए। पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और बच्ची बाहर निकाला। इस बीच स्कूल के प्रधानाध्यापक रेशमपाल भी पहुंच गए और स्वजन व ग्रामीणों से अपनी गलती मानते हुए मामले को शांत कराया। इसके बाद स्वजन बच्ची को लेकर घर चले गए। ग्रामीणों द्वारा बनाया गया वीडियो वायरल हो गया। 

वोट डालने गए थे शिक्षक 

रोशमपाल ने बताया कि गुरुवार को गुलावठी के टाउन स्कूल में शिक्षक संघ का चुनाव था। जिन शिक्षकों की वोट थी वह छुट्टी से थोड़ी देर पहले ही गुलावठी चले गए थे। मेरी वोट नहीं थी, इसलिए वह और एक प्रशिक्षु शिक्षक छुट्टी होने तक स्कूल में ही रुके रहे। बच्ची को क्लास में नींद आ गई। प्रशिक्षु शिक्षक ने क्लास रूम का ताला लगा दिया था।

इन्होंने कहा...

यह मामला संज्ञान में आया है। जांच कराकर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

-अभिषेक पांडेय, सीडीओ

Edited By: Parveen Vashishta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट