बुलंदशहर, जेएनएन। मुरादाबाद से आई कलाकारों की मंडली नुमाइश मैदान में रामलीला का मंचन कर रही है। मुंबई के कलाकारों की आवाज दर्शकों को अपनी ओर खींच रही है। अब बुधवार को यहां दशहरा महोत्सव मनाया जाएगा। इसमें धू-धूकर जलते विशालकाय रावण, मेघनाद और कुंभकरण के पुतले आकर्षण का केंद्र बनेंगे। मंगलवार को महोत्सव की तैयारी को अंतिम रूप देने में आयोजक लगे रहे। 

शहर के नुमाइश मैदान में श्रीरामलीला सभा की ओर से रामलीला मंचन किया जा रहा है। बुधवार शाम चार से सात तक यहा दशहरा महोत्सव मनाने की तैयारी की गई है। इसमें रावण, कुंभकरण और मेघनाद का पुतला दहन किया जाएगा। जनप्रतिनिधि सहित जिले के आला अफसर अतिथि के रूप में शामिल होकर बुराई पर अच्छाई की जीत के साक्षी बनेंगे। 

दूरदराज से लोग उत्सव देखने आते हैं

सभा के अध्यक्ष नीरज जिंदल ने बताया कि नगर की यह ऐतिहासिक रामलीला है। दशहरा उत्सव भी धूमधाम के साथ मनाया जाता है। दूरदराज से लोग यह उत्सव देखने को आते हैं, जिसकी तैयारी को लेकर मंगलवार का अंतिम रूप दिया गया।

60 फीट के रावण के पुतले का होगा दहन

नुमाइश मैदान में पुतला दहन की तैयारी भी जोरों पर रही। रावण, कुंभकरण और मेघनाद के पुतले तैयार करने में कारीगर जुटे रहे। कारीगरों के अनुसार पीढ़ियों से यह कार्य करते आ रहे हैं। महंगाई बढ़ने का असर पुतले पर भी पड़ा है। कीमत लाखों तक पहुंचने लगी है।

श्रीरामलीला सभा की ओर से इस बार रावण का 60 फीट जबकि कुंभकरण का 55 और मेघनाद का 50 फिट पुतला तैयार कराया जा रहा है। बुधवार को ये पुतले मैदान में खड़े किए जाएंगे। देर शाम इनका दहन किया जाएगा।

प्रदूषण मुक्त की जाएगी आतिशबाजी

श्रीरामलीला सभा अध्यक्ष नीरज जिंदल के अनुसार दशहरा महोत्सव पर प्रदूषण मुक्त आतिशबाजी की जाएगी, जिसका समय आधा घंटा रहेगा। वहीं मान्यता एवं परंपरा के अनुसार लोग पुतलों के नीचे बच्चों का मुंडन संस्कार कराने पहुंचेंगे। दहन के बाद राख भी घर लेकर जाएंगे।

Edited By: prashant Gaud

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट