स्याना (बुलंदशहर) : गांव धनियावली में शुक्रवार की देर रात एक युवक ने अपनी चचेरी बहन को गोलियां बरसाकर मौत के घाट उतार दिया। मृतका सुसराल पक्ष से विवाद के चलते अपने मायके में रह रही थी।

मंजू (40) की शादी लगभग 20 वर्ष पहले गुलावठी थाना क्षेत्र के ग्राम खुशहालपुर में हुई थी। पति से विवाद होने के कारण तीन साल से अपनी मां ज्ञानवती के साथ धनियावली में रहती थी। मंजू का भाई गुड्डू दिल्ली में रहता है। शुक्रवार की रात मंजू अपनी मां के साथ पड़ोस में भजन-कीर्तन कार्यक्रम में जा रही थी। आरोप है कि रास्ते में घात लगाए खड़े चचेरे भाई रामू ने मंजू पर गोली बरसा दी। ग्रामीणों की भीड़ को आता देख आरोपित हवा में हथियार लहराता हुआ फरार हो गया।

सूचना मिलने पर सीओ सत्यप्रकाश शर्मा व कोतवाली प्रभारी सुबोध कुमार ¨सह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। घायल मंजू को मेरठ मेडिकल कालेज ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। मंजू के भाई गुड्डू ने रामू के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है। बताया कि उसकी बहन का सुसराल पक्ष से विवाद चल रहा था। मामला न्यायालय में विचाराधीन है। आरोपित रामू मृतका मंजू के ससुराल पक्ष की तरफदारी करता था। इस कारण वह मंजू से रंजिश रखता था। कोतवाली प्रभारी सुबोध कुमार ¨सह ने बताया कि रामू धरपकड़ के लिए दबिश दी जा रही है। शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इंसेट

मां ने मांगी बेटी के जीवन की भीख

ग्रामीणों ने बताया कि ज्ञानवती ने आरोपित से अपनी बेटी के जीवन की भीख मांगी। यहां तक कहा कि वह मंजू को छोड़ दे और उसकी जगह उसे गोली मार दे। मंजू के तीन बच्चे हैं। वे पति के साथ रहते हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप