सिकंदराबाद: ब्लाक प्रमुख मतदान को लेकर महिला बीडीसी के अपहरण की शिकायत पर पूर्व ब्लाक प्रमुख पुष्पेन्द्र भाटी को हिरासत में लेने पर समर्थकों ने कोतवाली पहुंचकर जमकर हंगामा किया। बाद में महिला बीडीसी द्वारा एसडीएम के समक्ष प्रस्तुत होकर अपहरण न होने का बयान दर्ज कराने के बाद पुलिस ने पुष्पेंद्र भाटी को छोड़ दिया। इसके बाद समर्थक शांत हुए।

मंगलवार सुबह सिकंदराबाद देहात वार्ड-12 की बीडीसी पुष्पा देवी के अपहरण की आशंका जताते हुए उनके पति खत्रीवाड़ा निवासी सुखवीर सिंह भाटी ने पूर्व ब्लाक प्रमुख पुष्पेंद्र भाटी पक्ष के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दी। इसके बाद पुलिस ने पूर्व ब्लाक प्रमुख पुष्पेंद्र को पूछताछ के लिए कोतवाली बुलाया। इसी बीच पुष्पेंद्र भाटी को हिरासत में लेने की सूचना फैल गई जिस पर उनके समर्थक भड़क गए और ट्रैक्टर ट्राली से कोतवाली पहुंच गए और जमकर हंगामा किया। उन्होंने आरोप को बेबुनियाद बताते हुए सत्ता पक्ष के दबाव में हिरासत में रखने का आरोप लगाया। कोतवाली निरीक्षक अवनीश गौतम ने पूछताछ को बुलाने व महिला बीडीसी के संबंध में जांच करने की बात कहीं लेकिन समर्थक नहीं माने। इसी बीच पुष्पा देवी तहसील पहुंची और एसडीएम के समक्ष अपने अपहरण को झूठी बताई। उन्होंने बताया कि वह मंगलवार को अपनी रिश्तेदारी में गई थी, लेकिन पति को बताना भूल गई थी। इसके बाद पुलिस ने पूर्व ब्लाक प्रमुख पुष्पेंद्र को छोड दिया। इन्होंने कहा..

बीडीसी महिला के संबंध में कोई जानकारी नहीं है। वह सदस्य पूर्व में उनके विरोध में रही है। पुलिस ने हिरासत में नहीं बल्कि पूछताछ को बुलाया था। कुछ लोग उन्हें झूठे मुकदमे में फंसाने की रणनीति रचना चाहते थे, जो सफल नहीं हो सके।

पुष्पेन्द्र भाटी, पूर्व ब्लाक प्रमुख

---------------------

शिकायत के आधार पर पुष्पेन्द्र भाटी को पूछताछ के लिए कोतवाली बुलाया गया था। उन्हें हिरासत में नहीं ले लिया गया। लेकिन कुछ लोग मामले को वह वजह तूल देने पर तूले थे। निष्पक्ष चुनाव में किसी भी तरह खलल डालने वालों से सख्ती से निपट जाएगा।

अवनीश गौतम, कोतवाली निरीक्षक

---------------

तहसील में भिड़े दोनों के समर्थक

सिकंदराबाद: तहसील में बयान दर्ज कराने पहुंची बीडीसी महिला सदस्य को लेकर पुष्पेन्द्र भाटी व मनीष भाटी समर्थकों के बीच जमकर नोक झोक हुई। पुलिस ने किसी तरह दोनों पक्षों को शांत किया। बाद में महिला बीडीसी पुष्पा देवी को पुलिस सुरक्षा में घर छोड़ा। फिलहाल बीडीसी सदस्य के घर पर पुलिस बल तैनात किया गया है।

Posted By: Jagran