बुलंदशहर, जेएनएन। स्याना में तीन दिसंबर को गोकशी को लेकर हुए बवाल के आरोपित फौजी जितेंद्र उर्फ जीतू को सेना ने पुलिस के हवाले नहीं किया। सैन्य अधिकारी शनिवार सुबह जीतू को खुद लेकर जम्मू कश्मीर से उप्र के लिए रवाना हो गए हैं। जीतू के साथ एक सूबेदार मेजर और सेना के कुछ जवान भी हैं।
कोतवाल की हत्या का आरोप
बता दें कि पुलिस फौजी को स्याना कोतवाल सुबोध कुमार सिंह का हत्यारोपित बता रही है। न्यायालय से मिले गिरफ्तारी वारंट के बाद एसटीएफ व स्थानीय पुलिस जीतू को लेने के लिए जम्मू कश्मीर गई थी, लेकिन सैन्य अधिकारियों ने फौजी को उनके सुपुर्द करने से इन्कार कर दिया था। सैन्य अधिकारी शनिवार सुबह फौजी को खुद लेकर सोपोर से उप्र के लिए रवाना हो गए हैं। बताया गया है कि सैन्य अधिकारी जीतू फौजी को उप्र के किसी भी थाने में सुपुर्द कर सकते हैं।
सोपोर से गिरफ्तारी की खबर थी
बुलंदशहर प्रकरण में कोतवाल की हत्या के आरोपित माने जा रहे फौजी जितेंद्र कुमार उर्फ जीतू को शुक्रवार रात उत्तरी कश्मीर के सोपोर से गिरफ्तार किए जाने की खबर आई थी। बताया गा था कि सैन्य अधिकारियों ने जीतू को उप्र पुलिस के हवाले कर दिया। उसे रात में ही हवाई जहाज से दिल्ली लाए जाने की सूचना मिल रही थी। हालांकि पुलिस ने ऐसी किसी जानकारी से इन्कार किया था।


दिनभर रही चर्चा
शुक्रवार को दिनभर यह चर्चा रही कि जीतू जम्मू कश्मीर के कारगिल (लद्दाख) में तैनात है, लेकिन एसपी कारगिल विरेंद्र कुमार ने कहा कि जितेंद्र उर्फ जीतू नाम का कोई जवान वहां नहीं है। जांच करवाई गई तो देर शाम पता चला कि जीतू सोपोर में तैनात है।

इस संबंध में जब सोपोर रेंज के डीआइजी अतुल गोयल और एसपी सोपोर जावेद इकबाल से बात की तो उन्होंने जीतू को गिरफ्तार किए जाने की जानकारी से इन्कार किया। वहीं, बताया जा रहा है कि सुरक्षा के मद्देनजर सेना की मौजूदगी में जीतू को जम्मू-कश्मीर से बाहर ले जाया जाएगा। इसके अलावा एक दो जवान बुलंदशहर तक उसके साथ जा सकते हैं।

Posted By: Ashu Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस