बुलंदशहर: केरल के कोझिकोड़ में निपाह वायरस से दस से ज्यादा लोगों की मौत की खबर के बाद लोगों में फैले कई तरह के संशय को मिटाने के लिए सीएमओ ने बुधवार को अलर्ट जारी किया है। सभी सीएचसी, पीएचसी के साथ ही निजी अस्पतालों को भी निर्देश दिए हैं, कि निपाह वायरस के लक्षणग्रस्त व्यक्ति के आने पर तुरंत सूचना दें।

सीएमओ डा. केएन तिवारी ने बताया कि निपाह वायरस घातक जुनोटिक रोग है। लखनऊ से इसके लिए निर्देश आ गए हैं। निपाह वायरस बड़े चमगाड़ों में होता है। इस वायरस से संक्रमित चमगादड़ों द्वारा खजूर के पेड़ों से निकली ताड़ी पीने व फल खाने से मानव में संक्रमण की संभावना रहती है तथा संक्रमित मनुष्य के नजदीकी रहने से दूसरों के भी संक्रमित होनी की संभावना है। इसका प्रसार हवा से नहीं होता है। निपाह वायरस की चपेट में आने वाले व्यक्ति को बुखार, कमजोरी, सिरदर्द, खांसी, छाती का संक्रमण, मानसिक बदलाव, दौरे आना आदि की शिकायत होती है। साथ ही उसमें दिमागी सूजन जैसे लक्षण देखे जा सकते हैं। सीएमओ ने बताया कि हालांकि अभी जिले में कहीं से निपाह वायरस की सूचना नहीं है। फिर भी अलर्ट जारी कर दिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस