बुलंदशहर, जेएनएन। वायु प्रदूषण को रोकने के उद्देश्य से तहसील प्रशासन हर संभव प्रयास कर रहा है। गांव में पराली सहित कोई कूड़ा-करकट न जलाए इसके लिए लेखपालों व कानूनगो द्वारा निगरानी रखी जा रही है। हालांकि तहसील स्तर पर अब तक अलग अलग गांव में धान के अवशेष जलाने पर अभी तक मात्र सात लोगों पर जुर्माना की कार्यवाही कर 20 हजार रूपये जुर्माना वसूला जा चुका है।

तहसीलदार राजकुमार भास्कर ने बताया कि तहसील के 30 लेखपाल व दो कानूनगो की ड्यूटी लगाई गई है। जिनके द्वारा किसी भी गांव क्षेत्र में पराली जलाने पर तहसील को सूचना दी जायेगी। तहसीलदार ने बताया कि पहली बार में जमीन के आधार पर जुर्माना की कार्रवाई की जाएगी इसके बाद भी यदि खेत मालिक दुबारा पराली जलाता पाया गया तो उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस