जेएनएन, बिजनौर। पैजनिया क्षेत्र के गांव लाडनपुर में पंचायतघर में आयोजित अधिकारियों और ग्रामीणों की बैठक में संत शिरोमणि गुरु रविदास धर्मशाला में बने सामुदायिक शौचालय का स्थानांतरण कराए जाने की मांग को लेकर घंटों गहमागहमी रही। ऐसे में बैठक घंटों तक चलने के बाद भी बेनतीजा रही। अनुसूचित जाति के लोग धर्मशाला से सामुदायिक शौचालय स्थानांतरण कराए जाने की मांग पर अड़े रहे। प्रशासनिक अधिकारियों ने मामले की रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को प्रेषित करने की बात कही है।

गांव लाडनपुर में संत शिरोमणि गुरु रविदास धर्मशाला है। करीब सात माह पूर्व धर्मशाला परिसर में सामुदायिक शौचालय का निर्माण कराया गया था। इससे अनुसूचित जाति के लोग आक्रोशित हैं। उन्होंने धर्मशाला से शौचालय का शीघ्र स्थानांतरण नहीं कराए जाने पर आत्मदाह करने की चेतावनी दे रखी है। उनका कहना है कि शौचालय का निर्माण उनकी धर्मशाला की निजी भूमि पर कराया गया है। डीएम के निर्देश पर गुरुवार को डीपीआरओ सतीश कुमार, नायब तहसीलदार अजय कुमार आदि सामुदायिक शौचालय निर्माण के मामले में गांव में जांच करने पहुंचे। प्रशासनिक अधिकारियों ने समस्या का समाधान कराए जाने को लेकर गांव के पंचायत घर में ग्रामीणों की बैठक बुलाई। अनिल कुमार, नरपाल सिंह, रिकू सिंह, ओमपाल सिंह, मुन्नू सिंह, हिमांशु कुमार, सोपाल सिंह, रविद्र सिंह, बलराम सिंह, रमेशचंद सिंह, नितिन कुमार आदि लोगों ने धर्मशाला से सामुदायिक शौचालय हटाने की मांग पर अड़े रहे जबकि गांव के कुछ लोग सामुदायिक शौचालय को यथा स्थान पर ही रखने के पक्षधर थे। प्रशासनिक अधिकारियों ने शौचालय स्थानांतरण कराए जाने के संबंध में अपने-अपने शपथ पत्र जिलाधिकारी के समक्ष प्रस्तुत करने की बात कहकर ग्रामीणों को शांत किया। इस तरह बैठक में शौचालय संबंधी वार्ता बेनतीजा रही। उधर, जांच अधिकारियों ने मामले की रिपोर्ट डीएम को प्रेषित करने की बात कही है।

Edited By: Jagran