बिजनौर, जेएनएन। तहसील नजीबाबाद के ग्राम शादीपुर के लेखपाल का रिश्वत मांगने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। उधर यह मामला संज्ञान में आने के बाद एसडीएम परमानंद झा ने तत्काल प्रभाव से उक्त लेखपाल को निलंबित करने के बाद इस प्रकरण की जांच तहसीलदार न्यायिक को सौंप दी है।

नजीबाबाद तहसील के ग्राम शादीपुर निवासी बलराम सिंह की कुछ माह पहले मृत्यु हो गई थी। पिता की मृत्यु के बाद राजस्व रिकार्ड में वारिसान कराए जाने के लिए उसके पुत्र लोकेन्द्र, पुष्पेंद्र व पत्नी अमलेश ने राजस्व विभाग के अधिकारियों को प्रार्थनापत्र दिया था। आरोप है कि हल्का लेखपाल ने इस की एवज में पांच हजार रुपये की डिमांड की। बताते हैं कि मृतक के पौत्र ने बतौर एडवांस आठ सौ रुपये उक्त लेखपाल को दे भी दिए थे, कितु इसके बावजूद रिकार्ड में उन्हें वारिसान के रूप में दर्ज नहीं किया। पीड़ित ने इस पूरे प्रकरण की वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दी।

वीडियो क्लिप में लेखपाल ने दो टूक कहा कि जैसा गुड़ डालोगे, वैसा मीठा होगा। जल्दी कार्य कराना है, तो सेवा पानी के पूरे रुपये देने ही होंगे। हालांकि उक्त वीडियो लगभग 15 दिन पुरानी बताई जा रही है। लेखपाल का कहना है कि वह वीडियो मेरी नहीं है और न ही मैंने कोई रुपयों की डिमांड की है। उधर एसडीएम नजीबाबाद परमानंद झा का कहना है कि यह गंभीर मामला है। आरोपित लेखपाल को निलंबित करने के साथ-साथ इस प्रकरण की जांच तहसीलदार न्यायिक को सौंप दी है। नगीना लालसराय चौकी प्रभारी योगेश कुमार लाइन हाजिर

नगीना: सीओ सुमित पांडे ने लाल सराय चौकी प्रभारी के विरुद्ध मिली विभिन्न शिकायतों और पुलिस की छवि धूमिल करने की रिपोर्ट एसपी को भेजी थी। एसपी ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए लाल सराय चौकी प्रभारी योगेश कुमार को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया।

Edited By: Jagran