बिजनौर, जेएनएन: ग्राम छितावर में बुखार से पीड़ित नौ वर्षीय बालक शिवा की इलाज के दौरान मेरठ में मृत्यु हो गई। ग्रामीण क्षेत्र में सैकड़ों लोग बुखार से पीड़ित हैं, लेकिन स्वास्थ्य विभाग कुंभकर्णी नींद सो रहा है। जिससे ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।

ग्राम छितावर निवासी नरेश कश्यप के नौ वर्षीय पुत्र शिवा को आठ दिन पहले बुखार हुआ था। परिजनों ने पहले ग्राम में इलाज कराया। बाद में बिजनौर ले गए। बिजनौर में चिकित्सकों ने शनिवार को मेरठ मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। सोमवार रात्रि मेरठ में इलाज के दौरान शिवा की मौत हो गई। ग्रामीणों के अनुसार छितावर के आसपास गांवों में बुखार ने अपने पैर पसार रखे हैं। क्षेत्र के सैकड़ों लोग बुखार की चपेट में हैं। बुखार से बालक की मौत होने से बुखार के मरीजों में दहशत है।

ग्रामीणों के अनुसार क्षेत्र में दीपक कश्यप, सुदर्शन, नरेश प्रजापति, पप्पू विश्वकर्मा, सीमा पत्नी तेजपाल, अल्लाबख्श, तहसीन, इमरान अहमद, शकील, सीमा पत्नी सुखराम एवं लक्की पुत्र साधुराम सहित सैकड़ों लोग बुखार की चपेट में हैं। कई बुखार पीडितों का इलाज बिजनौर में कराया जा रहा है।

गांवों में नहीं हो रही सफाई

ग्रामीणों का आरोप है कि बुखार से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह हरकत में नहीं आया है। न तो गांवों में पर्याप्त कैंप लगाए जा रहे हैं और न ही कोई दवा दी जा रही है। गांवों में सफाई भी ठीक प्रकार से नही कराई जा रही है। ग्राम प्रधानों द्वारा बुखार फैलने के बाद भी कीटनाशक का छिड़काव नही कराया जा रहा है।

शहजादपुर में युवक की डेंगू से मौत

संसू, नांगलसोती: नांगल क्षेत्र के ग्राम शहजादपुर निवासी हरिओम पुत्र बलवीर सिंह कई दिन से बुखार से पीड़ित था। उसका स्थानीय चिकित्सक के यहां उपचार चल रहा था। हालत बिगड़ने पर उसे प्राइवेट नर्सिग होम नजीबाबाद ले जाया गया। जहां डेंगू बुखार के कारण उसकी मौत हो गई। हरिओम के दो छोटे-छोटे बच्चे हैं। घटना से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। बताया गया कि गौसपुर, सबलपुर, सुंगरपुर बेहड़ा, नांगल में डेंगू बुखार, मलेरिया का प्रकोप बरकरार है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप