बिजनौर, जागरण टीम। चालक की हत्या कर स्क्रैप से भरा ट्रक लूटने की वारदात का पुलिस ने राजफाश किया है। नहटौर पुलिस और स्वाट टीम ने छह बदमाशों को गिरफ्तार किया है। दो बदमाश मुजफ्फरनगर, एक देहरादून और तीन बिजनौर के रहने वाले हैं।

24 जनवरी को नहटौर थाना क्षेत्र के हल्दौर मार्ग स्थित बेगराजपुर गांव के पास सड़क किनारे एक व्यक्ति का शव मिला था। जिसकी पहचान चंडीगढ़ (पंजाब) के मलोहा गांव निवासी ट्रक चालक नारायण प्रसाद के रूप में हुई थी। चालक के बेटे राकेश ने नहटौर थाने में हत्या और लूट का मुकदमा दर्ज कराया था। शुक्रवार को पुलिस लाइन में आयोजित प्रेस वार्ता में एसपी डा. धर्मवीर सिंह ने बताया कि गुरदीप सिंह निवासी रसूलपुर आबाद थाना अफजलगढ़, गुरमीत सिंह निवासी गांव लाल टप्पड़ थाना डोईवाला जिला देहरादून (उत्तराखंड), खालिद और आफताब निवासीगण जिगरीवाला थाना अफजलगढ़, शाबेज निवासी मोहल्ला कोटला मीरापुर जिला मुजफ्फरनगर व दाऊद निवासी गांव गढ़ी थाना जानसठ को गिरफ्तार कर लिया। इनसे सवा करोड़ कीमत का स्क्रैप, तीन ट्रक, डस्टर गाड़ी, 40 हजार और हत्या में प्रयुक्त लोहे की राड बरामद की है।

बताया कि चालक नारायण प्रसाद ट्रक को पटना से स्क्रैप लेकर चंडीगढ़ जा रहा था। नारायण प्रसाद ही ट्रक मालिक था। क्लीनर बहराइच में पत्नी की तबीयत खराब होने के कारण रुक गया। बहराइच में एक ढाबे पर खाना खाने के दौरान एक अन्य ट्रक चालक गुरदीप और उसके क्लीनर गुरमीत से नारायण प्रसाद से मुलाकात हुई। गुरमीत ने नारायण दास के ट्रक को चंडीगढ़ तक पहुंचाने का आश्वासन दिया था। बिजनौर में उसने अपने साथी खालिद और आफताब को धामपुर बुला लिया। यहां पर नारायण प्रसाद, गुरमीत, खालिद, आफताब और गुरदीप ने शराब पी। नारायण प्रसाद की शराब में नशे की गोलियां मिली दी थी। इसके बाद गुरमीत ट्रक लेकर चल दिया। पीछे-पीछे दूसरे ट्रक से गुरदीप चल रहा था। नहटौर के पास उन्होंने लोहे की राड से हमला कर नारायण प्रसाद की हत्या कर दी। खालिद स्क्रैप से भरा ट्रक अफजलगढ़ के जिगरीवाला में ले गया और मुजफ्फरनगर के शावेज और दाऊद को बेच दिया। माल ले जाते समय पुलिस ने उन्हें दबोच लिया। एसपी ने टीम को 25 हजार रुपये देने की घोषणा की है। टीम में सीओ धामपुर अजय अग्रवाल, थाना प्रभारी सतेंद्र सिंह, एसओजी प्रभारी धीरज सोलंकी, एसआइ जर्रार हुसैन व एसआइ संजीव कुमार शामिल थे।

Edited By: Jagran