जेएनएन, बिजनौर। नजीबाबाद में विश्व हिदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान में हिदुओं पर हो रहे अत्याचारों और मंदिरों पर हो रहे हमलों पर रोष जताया। उन्होंने पड़ोसी देशों में अल्पसंख्यकों की रक्षार्थ सुरक्षा नीति सुनिश्चित करने की मांग की।

विश्व हिदू परिषद के विभाग समरसता प्रमुख ऋषिपाल सिंह, प्रखंड अध्यक्ष मलखान सिंह के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन प्रशासन को सौंपा। ज्ञापन में कहा कि बांग्लादेश में जेहादियों ने हिदुओं का सामूहिक नरसंहार, मंदिरों पर हमले कर मूर्तियों को तोड़ना शुरू कर दिया है। बांग्लादेश सरकार, संयुक्त राष्ट्र संघ, अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन में से किसी ने भी हिदुओं पर अत्याचार और नरसंहार करने वाले जेहादियों के खिलाफ आवाज नहीं उठाई है। प्रतिनिधिमंडल ने ज्ञापन में भारत सरकार से अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग में विरोध दर्ज कर पड़ोसी देशों में अल्पसंख्यक हिदुओं की जान-माल, हिदू धर्म स्थलों की सुरक्षा के लिए सुरक्षा नीति बनाने, बांग्लादेश में हिदुओं के हत्यारे, हमलावर जेहादियों को गिरफ्तार कर मृत्युदंड देने, मृतकों के स्वजन व घायलों को मुआवजा देने, मंदिरों का पुनर्निर्माण कराने और उनकी सुरक्षा बढ़ाने की मांग की। प्रतिनिधिमंडल में रितेश सैन, दीपक तोमर, विकास चौधरी, सत्यपाल शर्मा, आशु चौहान, नरेंद्र सिंह, पीतांबर सिंह, सोनू सिंह आदि शामिल रहे। हिदुओं के उत्पीड़न के खिलाफ आक्रोश

बांग्लादेश, पाकिस्तान व अफगानिस्तान में हिदुओं पर हो रहे हमले और उत्पीड़न को लेकर चांदपुर में बजरंग दल व विहिप के कार्यकर्ताओं ने आक्रोश जताया। साथ ही मंदिरों पर हो रहे हमले की भी निदा की। उन्होंने तहसील पहुंचकर प्रदर्शन किया।

उन्होंने कहा कि दशकों से बांग्लादेश, पाकिस्तान, अफगानिस्तान में जेहादियों द्वारा हिन्दुओं के उत्पीड़न किया जा रहा है। पिछले दिनों में तालिबानियों के आतंक के बल पर अफगानिस्तान की सत्ता कब्जाने के साथ ही सभी मुस्लिम देशों में हिन्दुओं की संपत्ति और आस्था के केंद्रों को निशाना बनाया जा रहा है। बांग्लादेश में हिन्दुओं की हत्या, मंदिरों पर हमले और मूर्तियों को तोड़ा जा रहा है। उन्होंने भारत सरकार द्वारा अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग में विरोध दर्ज कराते हुए पड़ोसी देशों में अल्पसंख्यकों (हिन्दुओं) की जान-माल, धर्म स्थलों के की सुरक्षा कराने की मांग की। बाद में उन्होंने तहसीलदार सुनील कुमार को ज्ञापन सौंपा। इस अवसर संजय चौधरी, सौरभ शर्मा, विशाल कुमार, सुशील सैनी, सुधीर, रोहन कुमार, महेश सैनी, राहुल, ऋषभ, आयुष राठौर, तरुण शर्मा आदि उपस्थित रहे।

Edited By: Jagran