बिजनौर : नयागांव में जमीनी विवाद में हुई राजवीर की हत्या के बाद घायल तहेरे भाई की दिल्ली के एक अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। परिवार में दो मौतों से गुस्साए सैकड़ों परिजनों व ग्रामीणों ने रविवार शाम एसपी आवास पहुंचकर हंगामा किया। पुलिस ने शव ले जा रही भीड़ को रास्ते में रोकने का प्रयास किया। इस दौरान महिलाओं से पुलिस की झड़प भी हुई। लोगों ने पुलिस पर आरोपितों की गिरफ्तारी न करने का आरोप लगाया है।

शहर कोतवाली थाना क्षेत्र के गांव राघोरमपुर उर्फ नयागांव निवासी राजवीर व भारत पर दूसरे पक्ष ने धारदार हथियारों से हमला किया था। राजवीर की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि तीन अन्य घायल हो गए थे। मृतक के भाई की ओर से सत्यवीर सिंह, दयाराम, प्रशांत, संजीव व आरूणी के खिलाफ हत्या व जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज कराया गया था। पुलिस ने सत्यवीर व प्रशांत को गिरफ्तार कर लिया था। गंभीर रुप से घायल मृतक राजवीर के तहेरे भाई भारत को मेरठ स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहां से दो दिन पूर्व उसे दिल्ली रेफर किया गया। रविवार सुबह भारत की मौत हो गई।

रविवार शाम भारत की मौत से गुस्साए सैकड़ों ग्रामीण व परिजन भारत का शव लेकर एसपी आवास की ओर चल दिए। इसकी सूचना पर एसपी आवास पर फोर्स तैनात कर दी गई। पुलिस ने शव ले जा रही भीड़ को बैराज रोड पर रोका। वहीं गांव से आ रहे लोगों की भीड़ को सीओ सिटी व इंस्पेक्टर ने चक्कर रोड पर रोकने का प्रयास किया। इस दौरान सीओ से महिलाओं से तीखी झड़प हुई। आरोप है कि सीओ ने महिलाओं से बदसलूकी की। हालांकि लोग एसपी आवास पहुंच गए। यहां पर महिलाओं का रो-रोकर बुरा हाल था। पुलिस को भारी भीड़ देखते हुए रूट डायवर्ट करना पड़ा। पुलिसकर्मियों ने गुस्साए परिजनों को समझाकर शांत कराया। मृतक के बेटे रजनीश त्यागी ने बताया कि एक आरोपित अधिवक्ता है। पुलिस उसके दवाब में कार्रवाई नहीं कर रही है। चार आरोपित फरार हैं। आरोप लगाया कि पुलिस ने समझौता कराने के लिए उनके खिलाफ गंभीर धारा में मुकदमा दर्ज कर लिया। मौत होने से पहले भारत को भी नामजद किया था।

पुलिस अधिकारियों ने कार्रवाई का आश्वासन देकर परिजनों को शांत किया। बाद में चार परिजनों की एसपी से मुलाकात कराई गई। एसपी ने तीन दिन में फरार आरोपितों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप