धामपुर (बिजनौर) : पीएचसी पर पोस्टमार्टम सेंटर में तैनात एक स्टाफ नर्स के सरकारी आवास पर एसडीएम ने छापा मारकर विभिन्न प्रकार की एक पेटी दवाई बरामद की। छापामार कार्रवाई से पीएचसी के कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। एसडीएम ने दवाइयों को कब्जे में लेते हुए इस बारे में ड्रग इंस्पेक्टर को अवगत करा दिया गया है।

नगर में स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर पीपीसी (पोस्टमार्टम सेंटर) पर एक स्टाफ नर्स पिछले काफी समय से तैनात है। वह पीएचसी परिसर में ही स्थित सरकारी आवास में रहती है। आरोप है कि इसकी शिकायत किसी ने जिलाधिकारी से की थी कि वह घर में अस्पताल चलाती है। साथ ही सरकारी दवाइयों को प्राइवेट तरीके से मरीजों को देकर उनसे पैसे वसूलती है। इस पर जिलाधिकारी ने एसडीएम को छापामार कार्रवाई करने के आदेश दिए थे। गुरुवार को एसडीएम ने स्टाफ नर्स के सरकारी आवास पर छापा मारा। इस दौरान विभिन्न प्रकार की एक पेटी दवाई बरामद की गई। एसडीएम ने दवाइयों को कब्जे में ले लिया है। इस दौरान पीएचसी प्रभारी डा. पीके गुप्ता, डा. मनीष कुमार आदि शामिल रहे। एसडीएम वीरेन्द्र कुमार मौर्य ने बताया कि ड्रग इंस्पेक्टर को बुलाकर दवाइयों की जांच कराई जाएगी। यदि यह दवाई घर में रखने वाली हैं तो ठीक हैं, नहीं तो कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। आरोप है कि पहले भी यह स्टाफ नर्स चर्चाओं में रही है। वहीं ड्रग इंस्पेक्टर आशुतोष मिश्रा ने बताया कि दवाई काफी कम मात्रा में मिली हैं। सभी घरेलू उपयोग में आने वाली दवाई है।

Posted By: Jagran