जेएनएन, बिजनौर। पिछले दो-तीन दिनों से जनपद में गर्मी व उमस धीरे धीरे बढ़ रही थी। बुधवार को सुबह से ही मौसम साफ रहा। दिन में तेज धूप के साथ मौसम में उमस रही। मौसम में उमस अधिक होने से लोगों को बैचेनी झेलनी पड़ी। शाम को आसमान में बादल छाए और हल्की हवा चली। थोड़ी देर में घने बादलों के बीच से बारिश होने लगी। शहर के अलावा जनपद में बूंदाबांदी ही हुई।

वर्तमान समय में गन्ने की बढ़त ज्यादा होती है। ऐसे में बिना हवा के बारिश फसलों के लिए लाभकारी है। गन्ना एवं धान की फसल को बहुत लाभ पहुंचता है। बारिश के साथ हवा चलने से गन्ने की फसल गिरने की संभावना रहती और गन्ना जमीन पर गिरने से उत्पादन पर असर आता है। दो दिनों से मौसम पूरी तरह बदल गया। गर्मी व उमस से हर कोई परेशान दिखाई दिया। बुधवार को ज्यादा गर्मी के कारण ही शाम को मौसम में बदलाव हुआ। जिला मुख्यालय पर शाम को बारिश हुई, लेकिन आसपास के क्षेत्र में बूंदाबांदी हुई, कही नहीं हुई। बारिश के बाद भी मौसम में उमस का असर दिखाई दिया। सट्टे की त्रुटियां कराई दूर

बिजनौर : बुधवार को जिले की गन्ना समितियों में किसान मेले का आयोजन हुआ। मेले में पहुंचे किसानों ने अपने अपने सट्टों का अवलोकन किया और उनमें रही त्रुटियों को दूर करने के लिए किसानों ने प्रार्थना पत्र दिये। मेले में किसानों ने अपना गन्ना क्षेत्रफल, उसमें पेड़ी और पौधा, मोबाइल नम्बर आदि की जांच की। किसानों ने गन्ना सट्टों से सम्बंधित समस्याओं को दूर कराने को प्रार्थना पत्र दिये। गन्ना अधिकारियों ने किसानों से गन्ना समितियों में आयोजित मेले में पहुंचकर अपने सट्टों का अवलोकन करने तथा कोई समस्या दूर कराने का आह्वान किया।

Edited By: Jagran