चरनजीत ¨सह, नजीबाबाद(बिजनौर):

अगर आप रेलवे मेल सर्विस से जल्दी पार्सल मिलने की उम्मीद लगाए बैठे हैं, तो यह उम्मीद छोड़ दीजिए। 17 अगस्त के बाद आपका पार्सल कब पहुंचेगा, यह अंदाजा लगाना खासा मुश्किल है। दरअसल, भारतीय डाक विभाग आरएमएस नजीबाबाद से पार्सल सेक्शन सहारनपुर हब में ट्रांसफर करने जा रहा है। आरएमएस नजीबाबाद से स्पीड पोस्ट सेक्शन पहले ही मुरादाबाद हब को ट्रांसफर किया जा चुका है। नजीबाबाद से गढ़वाल व जिले का पार्सल वितरण होता है।

रेलवे स्टेशन नजीबाबाद पर संचालित आरएमएस से पौड़ी गढ़वाल प्रखंड के 45 और जनपद बिजनौर के 43 पोस्ट ऑफिस संबद्ध हैं। यानि इन डाकखानों की डाक आरएमएस नजीबाबाद पहुंचने पर छंटनी के बाद गाड़ियों से वहां तक पहुंचाई जाती है। खास तौर पर रजिस्ट्री और पार्सल वितरण सेवा से क्षेत्र की जनता को काफी लाभ मिल रहा है। मगर अब आपको भेजा गया पार्सल आप तक कब पहुंचेगा, यह तो आने वाला समय ही बताएगा। पोस्ट मास्टर जनरल लखनऊ के आदेश पर 17 अगस्त को आरएमएस नजीबाबाद से पार्सल सेक्शन सहारनपुर डिवीजन में हब को स्थानांतरित कर दिया जाएगा। सूत्रों के अनुसार आरएमएस नजीबाबाद से रोजाना 400 से 500 पार्सल तय स्थान तक पहुंचाकर रिसीव कराए जाते हैं।

आरएमएस नजीबाबाद से स्पीड-पोस्ट सेक्शन को करीब चार वर्ष पहले मुरादाबाद हब में ट्रांसफर किया जा चुका है। जनपद बिजनौर एवं पौड़ी गढ़वाल प्रखंड के डाकखानों से आरएमएस पहुंचने वाली स्पीड-पोस्ट पहले मुरादाबाद भेजी जाती हैं। मुरादाबाद में छंटनी के बाद डाक वापस नजीबाबाद लौटने पर वितरण प्रक्रिया शुरू होती है। इस व्यवस्था में काफी समय लगने से क्षेत्रवासी पहले से ही काफी परेशान हैं। यही स्थिति सहारनपुर से घूमकर आने वाले पार्सल का होगा।

समय पर नहीं मिला पासपोर्ट

हल्दौर निवासी शगुन चौहान हाल ही में आरएमएस की ढुलमुल व्यवस्थाओं का शिकार हुआ। नौकरीपेशा शगुन को उसकी कंपनी जॉब के लिए थाईलैंड भेज रही थी। तीन अगस्त को उसकी फ्लाइट थी। मगर उसका पासपोर्ट मुरादाबाद हब पर फंस गया और समय से नहीं मिल सका। मौका हाथ से छूट जाने पर शगुन को मानसिक आघात और डाक सेवा के प्रति ग्लानि हुई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप