बिजनौर, जागरण टीम। अल फैजान मुस्लिम फंड लिमिटेड के मालिक मोहम्मद फैजी के करोड़ों रुपये लेकर फरार होने से नगीना के लोग सकते में हैं। पुलिस को अभी तक 170 खाते धारकों की तहरीर मिल चुकी हैं। पुलिस ने दो कर्मचारियों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। भागने से 20 दिन पहले फैजी ने अपना मकान महज छह लाख रुपये में बेच दिया था।

मोहल्ला लाल सराय स्थित अल फैजान मुस्लिम फंड में हजारों की संख्या में नगर व ग्रामीण क्षेत्र के लोगों के खाते थे। प्रतिदिन कर्मचारी व एजेंट लोगों से रुपये लाकर जमा करते थे। यह मुस्लिम फंड शाखा पिछले पांच वर्षों से चल रही थी। फैजी के भागने से नगीना के कई परिवार परेशान हैं। इन लोगों ने अपनी बेटियों की शादी के लिए जमा-पूंजी मुस्लिम फंड में जमा की थी। पुलिस ने खातेदारों की तहरीर पर फैजी व एक एजेंट के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है, लेकिन अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

बताया गया है कि फैजी महीनों से भागने की प्लानिंग कर रहा था। उसने 23 दिसंबर को मोहल्ला शाहजीर स्थित अपना पैतृक मकान को भी मात्र छह लाख में बेच दिया था। मोहल्ले में बाइक व अन्य कीमती सामान बेचने की भी चर्चा है। थाना प्रभारी निरीक्षक कृष्ण मुरारी दोहरे ने बताया कि अब तक 170 लोगों की तहरीर मिल चुकी है। दो एजेंट ललित और सचिन को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। सभी तहरीर को मुकदमे में शामिल कर लिया है।

दुबई भाग गया फैजी

फैजी के दुबई भागने की चर्चा हो रही है। चर्चा है कि नगर के कई पूंजीपतियों के भी करोड़ों रुपये मुस्लिम फंड में जमा थे। कोई भी मुंह खोलने को तैयार नहीं हैं।

Edited By: Jagran