जेएनएन, बिजनौर। धामपुर क्षेत्र के गांव मुबारकपुर कुंडा में बुधवार सुबह सड़क किनारे एक मादा गुलदार का शव पड़ा मिला। ग्रामीणों की सूचना पर वन विभाग की टीम ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। गुलदार के शरीर पर चोट के निशान मिले हैं। आशंका जताई जा रही है कि किसी वाहन की चपेट में आने से उसकी मौत हुई है।

शेरकोट के गांव मुबारकपुर कुंडा के पास भूतपुरी मार्ग पर सुबह एक मादा गुलदार का शव पड़ा था। धामपुर वन विभाग से रेंजर एसके मठपाल और डिप्टी रेंजर लक्ष्मीचंद टीम के साथ मौके पर पहुंचे और गुलदार के शव को कब्जे में ले लिया। रेंजर ने बताया कि मादा गुलदार की उम्र करीब छह महीने की है। गुलदार के शरीर पर चोट के निशान मिले हैं। उन्होंने इस बारे में आसपास के ग्रामीणों से भी जानकारी की, लेकिन कुछ पता नहीं चल सका। शव को पोस्टमार्टम के लिए बरेली भेजा गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का सही पता चल सकेगा। भ्रष्टाचार का आरोप लगाया

युवा राष्ट्रीय लोकदल बिजनौर ने जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देकर जिला नगरीय विकास अभिकरण यानि डूडा विभाग के कर्मचारियों पर आरोप लगाया कि वह प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर भ्रष्टाचार कर रहे है। आरोप लगाया कि इस योजना में गरीबों का पैसा ऐसे लोगों को दिया जा रहा है, जिनके पास पहले से अपने पक्के आवास है। शिकायती पत्र में इस मामले में जांच कराकर आरोपित कर्मचारियों पर कार्रवाई करने की मांग की है। शिकायती पत्र देने वालों में राजीव चौधरी, सचिन, हर्षवर्धन, परितोष कुमार, शुभम आदि प्रमुख है।

Edited By: Jagran