बिजनौर: जिले भर में मंगलवार को बूढ़े बाबा के मंदिर और मठ में हजार श्रद्धालुओं ने प्रसाद चढ़ा कर पूजा अर्चना की। श्रद्धालुओं ने बाबा से परिवार की सुख समृद्धि एवं बच्चों की दीर्घायु की कामना की।

रोडवेज बस स्टैंड चौराहे के निकट बने बूढ़े बाबा के मंदिर में मंगलवार सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ जमा होनी शुरू हो गई। श्रद्धालुओं ने बाबा को प्रसाद चढ़ाकर परिवार की खुशहाली की कामना की। प्रत्येक वर्ष भादों माह की दोयज को बूढ़े बाबा को प्रसाद चढ़ाया जाता है। मान्यता है कि बाबा को प्रसाद चढ़ाने से चर्म रोग नहीं होते एवं साल भी व्यक्ति स्वस्थ रहता है। मंदिर के आसपास मंगलवार को मेला लगा रहा। नगर ही नहीं आसपास के गांवों से भी श्रद्धालुओं ने बूढ़े बाबा को प्रसाद चढ़ाया। भीड़ का फायदा उठाकर पुलिस तैनाती के बावजूद जेबकतरों ने कई लोगों की जेब भी काट ली।

नजीबाबाद: मंगलवार को सुबह से ही भाद्र पक्ष की दोयज के अवसर पर नजीबाबाद-हरिद्वार मार्ग पर स्थित बूढ़े बाबा के मंदिर में प्रसाद चढ़ाने आए श्रद्धालुओं की भारी भीड़ लगी रही। मंदिर पहुंचे श्रद्धालुओं ने घंटों लाइन में लगकर प्रसाद चढ़ाया।

रतनगढ़: रतनगढ़ तिराहे पर लगने वाले पारंपरिक बूढ़े बाबा के मेले काली मंदिर पर मौजूद श्रद्धालुओं ने प्रसाद चढ़ाकर बूढ़े बाबा का आशीर्वाद प्राप्त किया। मेला मेन रोड पर लगने के कारण जाम की स्थिति बनी रही। इससे श्रद्धालुओं को परेशानी का समाना करना पड़ा। उधर, गांव हीमपुर बुजुर्ग में लगने वाले मेले में सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी रही। कई वर्षों से गांव में मेले का आयोजन होता है।

हल्दौर: बिजनौर-नहटौर बाईपास पर स्थित बूढ़े बाबा के मठ पर मंगलवार प्रात: से ही बूढ़े बाबा के प्राचीन मठ पर श्रद्धालुओं की लंबी लाईन प्रसाद चढ़ाने के लिए लगी थी। श्रद्धालुओं की के चलते पुलिस प्रशासन ने नहटौर -बिजनौर मार्ग पर सुबह से ही रुट डायवर्जन कर दिया था। थाना प्रभारी निरीक्षक सतेंद्र भड़ाना का कहना है कि उक्त मार्ग पर भारी भीड़ जमा होने व मार्ग के अवरुद्ध होने पर रुट डायवर्ट किया गया है भीड़ छंटने तक वाहनों को वैकल्पिक मार्गो से निकालने की व्यवस्था की गई है।

Posted By: Jagran