बिजनौर, जेएनएन। पुलिस ने नगर के दो मोहल्लों में अलग-अलग दो ब्रश कारखानों पर छापेमारी की है। आरोप है कि दोनों कारखाने कानपुर की एक नामी कंपनी के ब्रांड का प्रयोग करके नकली ब्रश बना रहे थे। पुलिस के साथ कानपुर की कंपनी से आए अधिकारी भी शामिल रहे। 

गुरुवार देर शाम थाना पुलिस ने मोहल्ला शेखान स्थित एक ब्रश कारखाने पर छापा मारा। जिससे संचालक व कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। इसके बाद मोहल्ला नौंधना में भी छापेमारी की गई। थानाध्यक्ष सत्येंद्र सिंह ने बताया कि कानपुर की ब्रश बनाने की एक नामी कंपनी ईगल ब्रश के नाम से शेरकोट के दोनों कारखाने नकली ब्रश बना रहे थे। 

कंपनी को काफी समय से इसकी शिकायत मिल रही थी, जिस पर गुरुवार को ईगल ब्रश फर्म रजिस्टर्ड के लीगल एडवाइजर और अन्य अधिकारी पहुंचे। उन्हीं को साथ में लेकर छापेमारी की गई है। 

थानाध्यक्ष ने बताया कि दोनों कारखानों से ईगल नाम के बड़ी मात्रा में ब्रश बरामद किए गए हैं। बरामद माल की जांच और गिनती के बाद अग्रिम कार्रवाई के तहत मुकदमा दर्ज कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

ग्रामीणों ने दहशत में गुजारी रात, वनकर्मियों ने की पेट्रोलिंग 

बिजनौर, जेएनएन। गांव गोपीवाला निवासी अध्यापक लईक अहमद को उनके घर के मुख्य दरवाजे के पास गुलदार का जोड़ा बैठा दिखाई दिया था। शिक्षक व ग्रामीणों ने शोर मचाकर गुलदार के जोड़े को वहां से खदेड़ा। कुछ देर बाद फिर से गुलदार का जोड़ा वहीं लौट आया। ग्रामीणों ने फिर से खदेड़ने की कोशिश की, लेकिन वहीं जमे रहे। 

सूचना पर वन दारोगा मोहित कुमार व सुनील कुमार दो वनकर्मियों के साथ पहुंचे। तब तक गुलदार का जोड़ा वहां से जा चुका था। वनकर्मियों ने ग्रामीणों को साथ लेकर क्षेत्र में कांबिंग की, लेकिन गुलदार दिखाई नहीं दिए। भयभीत ग्रामीणों ने पूरी रात जागकर गुजारी। वनकर्मी भी गांव में ही जमे रहे। साहूवाला वन क्षेत्राधिकारी इरफान अंसारी ने ग्रामीणों से पूरी सतर्कता बरतने को कहा।

Edited By: Shivam Yadav