पट्टे की जमीन पर बने घर ध्वस्त करने का आरोप

बिजनौर, जागरण टीम। धामपुर क्षेत्र के गांव आलमपुर गांवड़ी के कुछ ग्रामीणों ने राजस्व विभाग पर पट्टे की जमीन पर बने मकानों को ध्वस्त कराने का आरोप लगाया है। ग्रामीणों ने मंगलवार को अफजलगढ़ के भाजपा पूर्व विधायक डा. इंद्रदेव सिंह से मुलाकात की और मदद की गुहार लगाई। आलमपुर गांवड़ी के ग्रामीण मंगलवार सुबह आरएसएम तिराहा स्थित पूर्व विधायक डा. इंद्रदेव सिंह के आवास पर पहुंचे। ग्रामीण शीशराम सिंह, रामसिंह, ओमप्रकाश सिंह, सुखदेव सिंह, ऋषिपाल, राजेंद्र सिंह, रतिपाल, सुरेंद्र आदि ने बताया कि वर्ष 1970 में कुछ ग्रामीणों स्व. इंदिरा गांधी की सरकार के दौरान नसबंदी कराने पर जमीनों के पट्टे मिले थे। वहीं कुछ लोगों को वर्ष 1962 में आई बाढ़ से राहत देने के लिए सरकार ने जमीन दी थी। ग्रामीणों का कहना है कि इन भूमि के पट्टे उनके पास हैं, वहीं सुखदेव प्रसाद, ओमप्रकाश, रामशरण आदि के न्यायालय में जमीनों के मुकदमे भी चल रहे हैं। ग्रामीणों ने राजस्व विभाग पर आरोप लगाया कि उनके पट्टे की भूमि पर बने मकान व अन्य निर्माण को विभाग ने ध्वस्त करा दिया है। यह कार्रवाई अतिक्रमण व अवैध कब्जा बताते हुए की गई है। डा. इंद्रदेव सिंह ने कहा कि स्थानीय अधिकारियों से वार्ता की गई है। ग्रामीणों की समस्या उठाकर हरसंभव मदद की जाएगी। इस बारे में एसडीएम विजय वर्धन तोमर ने बताया कि प्रशासन ने केवल अवैध कब्जों पर कार्रवाई की है, पट्टे की भूमि पर मकान ध्वस्त कराने के आरोप गलत हैं।

Edited By: Jagran