जेएनएन, बिजनौर। यूपी बोर्ड की कक्षा 10वीं एवं 12वीं की अंक सुधार परीक्षा कराने को जनपद में 11 परीक्षा केंद्र बनाएं गए, जिसमें 1334 परीक्षार्थी परीक्षा में बैठेंगे। साथ ही अंक सुधार बोर्ड परीक्षा को नकलविहीन, सुचारू और निष्पक्ष रूप से सम्पन्न कराने के लिए माध्यमिक शिक्षा विभाग और प्रशासन ने पूरी तैयारी ली है। सभी परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरों की नजर रहेगी।

डीआइओएस व परीक्षा पर्यवेक्षक, डायट प्राचार्य ने गुरुवार को जीजीआइसी में बने कंट्रोल रूम पहुंचकर सभी केंद्रों का अवलोकन किया।

18 सितंबर से छह अक्तूबर तक यूपी बोर्ड की अंक सुधार परीक्षाएं आयोजित होंगी। प्रत्येक ब्लाक क्षेत्र में एक-एक परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। 11 परीक्षा केंद्रों में अंक सुधार परीक्षा के लिए हाईस्कूल में 742 परीक्षार्थी तथा इंटरमीडिएट ने 592 परीक्षार्थी परीक्षा के लिए पंजीकृत हैं। परीक्षा केंद्रों के 500 मीटर की परिधि में कोई भी फोटो स्टेट अथवा इलेक्ट्रानिक सामग्री विक्रय से संबंधित कोई भी दुकान खुली नहीं रहेगी। परीक्षा केंद्रों के बाहर पुरुष एवं महिला पुलिस कर्मियों की ड्यूटी भी लगाई है। कोरोना प्रोटोकाल के नियमों का पालन करते हुए परीक्षा कराई जाएगी। परीक्षार्थी की सघन तलाशी के उपरांत ही उन्हें परीक्षा केंद्र में प्रवेश दिया जाएगा। परीक्षा के समय प्रश्न पत्र आदि खोलने की प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी कराना सुनिश्चित करें। जिला विद्यालय निरीक्षक राजेश कुमार ने बताया कि परीक्षा से पहले परीक्षा केंद्रों के टायलट एवं बाथरूम में भी बारीकी से चेकिग कराई है। परीक्षार्थियों की सतत निगरानी के लिए परीक्षा कक्षों में सीसीटीवी कैमरों की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित की गई। त्रिस्तरीय चेकिग प्रक्रिया के बाद ही परीक्षार्थी को परीक्षा कक्ष में प्रवेश दिया जाएगा।

Edited By: Jagran