जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : प्रदेश सरकार द्वारा मंगलवार को जारी किए गए बजट में गोरखपुर व भदोही में पशु चिकित्सा महाविद्यालय की स्थापना के लिए 40 करोड़ रुपये का प्रविधान कर दिया है। ऐसे में उम्मीद है कि 20 करोड़ रुपये जिले में महाविद्यालय की स्थापना के लिए मिलेंगे। बजट में धन के मिलने से महाविद्यालय बनने का रास्ता साफ हो चुका है। उधर इसकी खबर लगते ही जिले के लोगों सहित छात्र-छात्राओं में खुशी की लहर दौड़ गई है। विशेषकर विद्याíथयों का मानना है कि इससे अब उन्हें एक तकनीकी शिक्षा आसानी से हासिल हो सकेगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तीन जून 2018 को भदोही में प्रस्तावित एक कार्यक्रम के दौरान भदोही में पशु चिकित्सा महाविद्यालय (वेटनरी कालेज) का निर्माण कराने की घोषणा की थी। मुख्यमंत्री की घोषणा में शामिल होने के एक सप्ताह के अंदर पशु चिकित्सा विश्वविद्यालय मथुरा ने संबद्धता की स्वीकृति दे दी थी, लेकिन भूमि का उपलब्ध न हो पाना इस महत्वाकांक्षी योजना में बाधा बनती दिख रही थी। नियमानुसार इस महाविद्यालय के निर्माण के लिए 55 एकड़ भूमि की जरूरत है। हालांकि पिछले दिनों काशी नरेश राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय ज्ञानपुर के हास्टल के पास कुल 60 एकड़ भूमि थी। इसमें 15 एकड़ में कृषि विज्ञान भवन और सात एकड़ में ब्लाक लेवल कोर्ट कांप्लेक्स का निर्माण कराया जाना प्रस्तावित है। इस प्रकार कालेज के पास महज चालीस एकड़ भूमि ही उपलब्ध हो पा रही है। इसी पर लटक गया था। पिछले दिनों शासन के विशेष सचिव मनोज कुमार के आए पत्र के कानरा महाविद्यालय की रिक्त भूमि पर वेटनरी कालेज की स्थापना के लिए 15.046 एकड़ भूमि को नि:शुल्क पशुधन-पशुपालन विभाग को हस्तांतरित करने का निर्देश जारी किया था। इसके साथ ही पांच एकड़ भूमि को फार्म के रूप में विकसित कर पशुपालन व महाविद्यालय द्वारा संयुक्त रूप से उपयोग की बात कही गई थी। इससे थोड़ी उम्मीद जगी थी लेकिन बजट में धन का प्रविधान कर दिए जाने से अब पूरी तरह रास्ता साफ हो उठा है की वेटनरी कालेज भदोही में ही बनेगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस