जासं, भदोही : फर्श उखड़ चुकी है। यह कार्य दो महीने पहले ही कराया गया था। साफ-साफ भ्रष्टाचार का अक्स निर्माण में दिखाई पड़ रहा है। जिम्मेदारों को अवगत भी कराया गया, लेकिन उन्हें होश नहीं आया। फर्श ठीक कराने के बजाय रेवड़ा परसपुर प्राइमरी स्कूल के 126 बच्चे टाट पर बैठकर पढ़ने को विवश हैं। वह भी तब, जब आपरेशन कायाकल्प योजना से विद्यालयों की गरीबी दूर करने की कोशिश चल रही है। विद्यालय के नए भवन का निर्माण छह साल पहले हुआ था। मगर भवन में सीलन है। पिछले बारिश में हुए जलजमाव के बीच एक माह तक कक्षों में पानी भरा था। प्रधानाध्यापक ने बताया कि समस्या से अधिकारियों को अवगत कराया गया है। आपरेशन कायाकल्प से भवन मरम्मत की प्रक्रिया चल रही है।

---------------------

दो विद्यालय अटैच, दो किराए के भवन में : शहर में 13 परिषदीय विद्यालय हैं, जिसमें दो अटैच कर संचालित हो रहे हैं तो दो विद्यालय चकसैफ व पीरखानपुर किराए के जर्जर भवनों में संचालित हो रहे हैं। सलावत खां प्राथमिक विद्यालय को काशीपुर में जबकि कटरा प्राथमिक विद्यालय को ठकुरा में चलाया जा रहा, दोनों विद्यालयों के भवन की व्यवस्था नहीं की जा सकी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस