जागरण संवाददाता, भदोही : प्रतीत हो रहा है कि जिम्मेदार राहगीरों की जान लेकर ही मानेंगे। इंदिरा मिल स्थित सर्विस लेन के गड्ढे में हर दिन वाहन फंस रहे हैं। यह सिलसिला एक पखवारे से बरकरार है। क्रेन तक उतारनी पड़ी है इन गड्ढों में फंसे वाहनों को निकालने में। मंगलवार को दोपहर ट्रक पलट गया। चालक और खलासी तो बाल-बाल बच गये, लेकिन चौरी होते ही बनारस जाने वाले राजमार्ग पर करीब आठ घंटे तक जाम लग गया। हर कोई परेशान हो उठा, इसका असर जौनपुर से मीरजापुर रोड पर भी दिखाई पड़ा। जाम समाप्त करवाने में पुलिसकर्मियों को खासी मशक्कत करनी पड़ी। स्थिति यह है कि जिला प्रशासन, उत्तर प्रदेश सेतु निगम और पीडब्ल्यूडी की नूराकुश्ती में आम जनता हर दिन मुसीबत झेलने को विवश है। दोहरी परेशानी से समस्या और बढ़ी

बालू लदा एक ट्रक सर्विस लेन के गड्ढे में फंसकर पलट गया। पहिये ट्रक से अलग हो गए। उधर पूर्वी लेन के गड्ढे में एक ट्रक फंसी गई। इसके चलते दोनों तरफ मार्ग ब्लाक हो गया। दिन भर दोनों लेन पर वाहनों का आवागमन नहीं हुआ। शाम तक पूर्वी लेन पर फंसा ट्रक किसी तरह निकाला गया लेकिन पश्चिमी लेन खाली नहीं हो सका। रोक के बावजूद बेधड़क इंट्री

सर्विस लेन पर भारी वाहनों को नो-इंट्री के आदेश हुए हैं। इसके बाद भी बेधड़क भारी वाहन घुस रहे हैं। प्रतिदिन गड्ढों में ट्रक फंस रहे हैं। मरम्मत के नाम पर सेतु निगम ने ईट बिछाकर औपचारिकता निभाई है। दोनों सर्विस लेन बाधित होने से चौरी की ओर ट्रकों के पहिए जाम हो गए। इंदिरा मिल से कंधिया फाटक तक ट्रकों की कतार लग गई। लोगों को भारी असुविधा का सामना करना पड़ा। रेवड़ा-रामरायपुर मार्ग भी आवागमन के लायक नहीं रह गया। धीरे-धीरे ट्रकों को यहां से पास कराया जा रहा था। मोरवा पुल के पास सड़क धंसने के कारण भदोही-चौरी मार्ग की लेन बाधित है। जर्जर पुलिया के पास धंसी सड़क, फंसा वाहन

दुर्गागंज क्षेत्र के कुढ़वा मार्ग पर स्थित पुलिया जर्जर हो जाने से दुर्घटना की आशंका बनी हुई है। मंगलवार को मालवाहक वाहन पुलिया के पास असंतुलित होकर नहर में उतर गए। संयोग था कि वाहन पलटने व बड़ा हादसा होने से बच गया। विश्वनाथ प्रताप सिंह सहित अशोक कुमार, विकास, हरिशंकर सिंह व अमित कुमार ने पुलिया के मरम्मत की मांग उठाई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप