जागरण संवाददाता, सुरियावां (भदोही) : राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत गुरुवार को सुरियावां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर में आयोजित मानसिक रोगी उपचार शिविर में मरीजों का इलाज कर बचाव की जानकारी दी गई।

केंद्र के चिकित्सा अधीक्षक डा. आरबी पाठक ने बताया कि मानसिक रोग किसी को भी हो सकता है। यदि समय से पता चल जाए तो इसका इलाज संभव है। रोग के लक्षण के बारे में बताते हुए कहा कि नींद न आना, देर से नींद आना, घबराहट, उलझन आदि बना रहे। बेहोशी के दौरे आना, बेवजह शक से ग्रसित रहना, उल्टा-सीधा बोलना आदि इसके प्रमुख लक्षण है। बताया कि नशे के सेवन, तनाव ग्रस्त रहने आदि से यह समस्या आती है। डा. राधेश्याम चौहान, डा. अशोक पाराशर, डा. शांति आनंद, डा. सुभाष बिद, डा. अमरनाथ आदि ने कुल 20 मानसिक रोगियों का उपचार कर दवा वितरित किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस