जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सुरियावां में तैनात आशा कार्यकर्ता सहित तीन की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। मंगलवार को आई रिपोर्ट में औराई ब्लॉक के खमरिया स्थित एक कालीन कंपनी में बंजारी निवासी युवक और सारीपुर का युवक भी शामिल है। रिपोर्ट मिलते ही सुरियावां अस्पताल व खमरिया स्थित कालीन कंपनी में खलबली मच गई। 26 जून को सुरियावां अस्पताल में तैनात आशा कार्यकर्ता का स्वैब बीएचयू जांच के लिए भेजा गया था। रिपोर्ट की जानकारी होने पर अस्पताल को सील कर दिया गया है। दो दिन तक यहां सैनिटाइजिग कार्य किया जाएगा।

सुरियावां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को स्वैब जांच केंद्र बनाया गया था। आशा कार्यकर्ता सर्वे कार्य में जुटी थी। इस दौरान वह कोरोना संदिग्ध के एंबुलेंस में बैठकर भदोही एमबीएस भी गई थी। रैंडम सैंपलिग में नमूना लिया गया था। जिला संक्रामक एवं महामारी अधिकारी डा. अजीत पाठक ने बताया कि उसके साथ कंपनी के 29 श्रमिकों का स्वैब लेकर जांच के लिए भेजा था। रिपोर्ट पॉजिटिव आने से कंपनी के अन्य मजदूरों में भी कोरोना का खौफ देखा गया। औराई के ही सारीपुर निवासी युवक दिल्ली में रहकर अपना खुद का कारोबार करता था। लॉकडाउन में बंदी की वजह से वहां फंस गया था। अनलॉक-1 में सहूलियत मिलने पर वह घर आया तो थर्मल स्क्रीनिग कराने औराई अस्पताल गया। वहां चिकित्सकों ने लक्षण मिलने पर स्वैब सैंपलिग लेकर जांच के लिए भेजा।

--------

आशा कार्यकर्ता का गांव भी सील

सुरियावां अस्पताल में तैनात मिली स्वास्थ्य कर्मी आशा कार्यकर्ता का गांव मधुपट्टी सील कर दिया गया। प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों ने गांव को हॉटस्पॉट घोषित कर सामान्य आवागमन प्रतिबंधित कर दिया।

---------

अस्पताल में मिला चौथा संक्रमित

सुरियावां अस्पताल में एक चिकित्साधिकारी, एक आयुष फार्मासिस्ट व एक अन्य स्वास्थ्य कर्मी कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। जिसमें से तीनों आइसोलेट अवधि पूरी कर घर वापसी भी कर चुके हैं। नया केस सामने आने से एक बार फिर अस्पताल प्रशासन की चिता बढ़ गई है।

---------

जज्बे के साथ सेवा में जुटे स्वास्थ्य कर्मी

कोरोना संक्रमित मिलने के बाद भी अस्पताल कर्मी जज्बे के साथ रोगियों की सेवा में जुटे हैं। अस्पताल अधीक्षक डा. आरबी पाठक ने बताया कि स्वास्थ्य कर्मियों को संक्रमण के चपेट आने के बावजूद बेखौफ होकर आने वाले रोगियों की सेवा तत्परता के साथ कर रहे हैं।

Edited By: Jagran