जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : रुरल लि¨वग जीवन व जीविकोपार्जन अनुभव कार्यक्रम के तहत संस्था की ओर से भुवनेश्वर के शोध छात्रों ने जिलाधिकारी की बैठक में प्रोजेक्टर के माध्यम से पोषण और वित्तीय समावेशन कार्यक्रम को प्रस्तुत किया। जिलाधिकारी ने कहा कि जिले के लिए संस्था की ओर से किए जा रहे कार्य सराहनीय हैं। कलेक्ट्रेट सभागार में गुरुवार को बैठक में जिलाधिकारी राजेंद्र प्रसाद ने कहा कि जिले के ग्रामीण क्षेत्रों की समस्याओं की हकीकत को लेकर संस्था के कदम सराहनीय है। रिपोर्ट प्राप्त होने पर आवश्यक कदम उठाने का आश्वासन भी दिया। मुख्य विकास अधिकारी हरिशंकर ¨सह ने कहा कि सामाजिक सरोकार के कार्यों में संस्था के कार्य आज के दौर में समाज में एक मिसाल है।

बैठक में भुवनेश्वर स्थित विद्यालय के चार छात्रों की ओर से सुरियावां विकास खंड के महुआपुर और मलेपुर गांव में 45 दिन जिले में प्रवास कर शोध किया गया। मुख्य विषय पोषक आहार और वित्तीय समावेशन पर गहन रिसर्च किया गया। फार्फ संस्था के तत्वावधान में एमबीए के छात्रों की ओर से किए गए शोध का प्रोजेक्टर के माध्यम से बैठक में प्रस्तुत कर जिलाधिकारी को जमीनी हकीकत की जानकारी दी गई। संस्था के अध्यक्ष आनंद पांडेय ने कहा कि ग्रामीण जीवन व जीविकापार्जन अनुभव के तहत किए गए शोध की रिपोर्ट एक सप्ताह में जिलाधिकारी को सौंप दी जाएगी। इस दौरान ऋषिराज मिश्र, अशोक कुमार मिश्र, रामदत्त मिश्र आदि थे।