जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही): औराई क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय अलुआ में आयोजित चौपाल में जिलाधिकारी राजेंद्र प्रसाद ने कहा कि शौचालय के उपयोग से बीमारी का अंत हो जाता है। इसको लेकर हर किसी को सोच बदलने की जरूरत है। लाभर्थीपरक योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम पंक्ति में बैठे लोगों तक पहुंचना चाहिए। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

उन्होंने कहा कि शौचालय का भरपुर उपयोग कर बीमारियों से निजात मिल जाती है। बेटियों के इज्जत के लिए सोच बदलने की जरूरत है, सोच बदलेगी तो नई दिशा मिलेगी, नई पहचान मिलेगी। ग्रामीणों शिकायत पर जिलाधिकारी ने रोस्टर के हिसाब से विद्युत आपूर्ति करने का निर्देश दिया। कहा कि चौपाल का उद्देश्य शासन द्वारा निर्धारित लाभार्थीपरक योजनाओं से पात्र लाभार्थियों को प्रत्येक दशा में लाभान्वित कराया जाना सुनिश्चित कराया जायेगा। इस दौरान स्वच्छता ही सेवा है, स्वच्छ भारत मिशन, मनरेगा, एनआरएलएम, प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण), कुपोषण से बच्चों की मुक्ति, कौशल विकास मिशन, प्रधानमंत्री रोजगार योजना, 14वां और राज्य वित्त आयोग, आधार कार्ड, सार्वजनिक वितरण प्रणाली, श्रम विभाग की योजनाओं की जानकारी दी गई। सहायक प्रशिक्षक राकेश ¨सह ने वीवी पैट की उपयोगिता बताई। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी हरिशंकर ¨सह, जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांग कल्याण अधिकारी अजय कुमार ¨सह, समाज कल्याण अधिकारी मीना श्रीवास्तव आदि थे।

Posted By: Jagran