जागरण संवाददाता, गोपीगंज (भदोही) : स्वामी विवेकानंद जी की 156वीं जयंती नगर व क्षेत्र में धूमधाम के साथ मनाई गई। इस अवसर पर संत विवेकानंद उमा विद्यालय गिराईं-गोपीगंज में प्रधानाचार्य अजय त्रिपाठी द्वारा विवेकानंद जी के चित्र पर माल्यार्पण करके तथा दीप प्रज्वलित कर उल्लासपूर्वक उनकी जयंती मनाई गई। इस अवसर पर उन्होंने स्वामी जी के जीवन से संबंधित गीत एवं उद्बोधन प्रस्तुत किए गए। प्रधानाचार्य अजय त्रिपाठी ने कहा कि भारत के राष्ट्रीय आदर्श, त्याग एवं सेवा के प्रतिमूर्ति स्वामी जी रहे। स्वामी जी कहते थे कि तुम काम में लग जाओ फिर देखोगे इतनी शक्ति आएगी कि तुम उसे संभाल न सकोगे। दूसरों के लिए रत्तीभर काम करने से भीतर की शक्ति जाग उठती है। इस अवसर पर संकटमोचन आदर्श बालिका इंटर कॉलेज दानीपट्टी के संस्थापक शैलेंद्र पांडेय ने स्वामी विवेकानंद जी के जीवन चरित्र पर विस्तृत रूप से प्रकाश डाला। गायत्री परिवार के संगीत विभाग के नरेंद्र मिश्र जी ने धार्मिक भजनों के माध्यम से उपस्थित जनसमुदाय को मंत्रमुग्ध एवं भावविभोर कर दिया। गायत्री परिवार के प्रांत प्रचारक राधेश्याम उपाध्याय द्वारा अपनी ओजस्वी वाणी से विवेकानंद जी के जन्म दिवस पर विद्यार्थियों को आशीर्वचन दिया गया। नवोदय विद्यालय के अवकाश प्राप्त प्रधानाचार्य डॉ राजेंद्र यादव ने कहा कि आज सबको मिलकर संकल्प लेना चाहिए कि अपनी भारत भूमि एवं भारतीयता के लिए सर्वस्व न्यौछावर करने के लिए हमेशा तैयार रहें, जिससे देश का मान और सम्मान कायम रहे। जयंती समारोह में प्रमुख रुप से अजय त्रिपाठी,राधेश्याम उपाध्याय, डॉ राजेंद्र यादव, रमाकांत गुप्ता, ज्ञानेश्वर अग्रवाल सहित नगर व क्षेत्र के गणमान्य लोग तथा विद्यालय परिवार के समस्त छात्र एवं छात्राए उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप