जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर(भदोही): घड़ी की सूई में जैसे ही नौ बजा कि गांव और नगर मानों ठहर सा गया। हजारों लोग जहां थे, वहीं रुक गए। घर के बाहर, कार के भीतर, खुले मैदान और छत के ऊपर। मंदिर, मस्जिद के अलावा सरकारी कार्यालय, स्कूल-मदरसा में प्रार्थना के माध्यम से कोरोना पीड़ितों के साथ खुद को जोड़ा तो आंखें नम हो गई। हजारों हाथ उन लोगों की आत्मिक शांति के लिए प्रार्थना करने लगे, जो कोरोना महामारी के कारण हमें छोड़कर चले गए। जो कोरोना से लड़े उन्हें ताकत देने और जो संक्रमितों की सेवा में लगे हैं उनका हौसला बढ़ाने की कामना की। दैनिक जागरण ने दिवंगत हुए इन लोगों को नमन करने के लिए प्रार्थना सभा का जो आयोजन किया, वह एक तरह से जन अभियान बन गया। गांव की गलियों से लेकर शहर की चौड़ी सड़कों तक, लोगों ने कोरोना के कारण दिवंगत हुए लोगों के लिए दो मिनट का मौन रखा।

सर्व धर्म प्रार्थना सभा का कार्यक्रम सामाजिक सद्भाव व सर्व धर्म समभाव की अनूठी मिसाल बन गया, क्योंकि हिदू, मुस्लिम धर्मों के प्रतिनिधियों ने एक मंच पर आकर समान भाव से न सिर्फ कोरोना से दिवंगत हुए लोगों की आत्मिक शांति के लिए अपने-अपने धर्मानुसार शांति पाठ किया बल्कि जो लोग अस्पतालों में भर्ती हैं, उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना भी की। इसके साथ ही कोरोना योद्धाओं को नमन और लोगों को कोविड से बचाव के लिए सावधानी बरतने का संदेश भी दिया गया। ज्ञानपुर नगर में नगर उद्योग व्यापार मंडल की और से कोरोना में दिवंगत हुए लोगों को मानव श्रृंखला बनाकर नमन किया गया। इस मौके पर घनश्याम गुप्ता, रंजीत गुप्ता, चेयरमैन हीरालाल मौर्य, ब्रह्मजीत शुक्ला, मुकेश सेठ, उत्तम पाठक, आशीष मिश्रा आदि थे। इसके अलावा भदोही, गोपीगंज, सुरियावां, सीतामढ़ी, औराई, घोसिया, महराजगंज, बाबूसराय,चौरी आदि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में हजारों की संख्या में लोग दो मिनट का मौन रखा। वक्ताओं ने कहा कि कोरोना योद्धाओं का योगदान अहम रहा है। आज यह बीमारी नियंत्रण में दिखने लगी है तो इसके लिए हमारे चिकित्सक, जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन के अधिकारी, नगर निकायों के अधिकारी, पुलिसकर्मी और सफाई कर्मी, मीडियाकर्मी व पैरा मैडिकल स्टाफ सहित कोरोना की बीमारी से बचाव में जुटे ऐसे सभी लोगों को हम नमन करते हैं।

उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की इस दूसरी लहर ने लाखों लोगों को कभी न भुलाया जाने वाला दर्द दिया है। जिन लोगों ने अपनों को खोया है, उनके मन की दशा को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। बहुत लोग अभी भी अस्पतालों और घरों में कोरोना संक्रमण से लड़ाई लड़ रहे हैं। दैनिक जागरण ने दिवंगतों को श्रद्धांजलि व संक्रमित हुए लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना के लिए जो प्रार्थना सभा रखी है, निश्चित तौर पर यह जागरण परिवार की अनूठी पहल है। इसके बारे में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता लेकिन हमें सतर्क रहना है। मास्क पहनकर ही बाहर निकलना है। कोरोनारोधी टीका सबको लगवाना है।

Edited By: Jagran