जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : प्याज के भाव में उतार-चढ़ाव जारी है। सितंबर में 70 रुपये किलो तक बिके प्याज के बाद दाम में काफी गिरावट आ चुकी थी। कीमत घटकर 25 से 30 रुपये तक पहुंच चुका था। अनुमान लगाया जा रहा था कि नई प्याज की आमद शुरू होते ही कीमत में और कमी आएगी, लेकिन हो रहा है ठीक उल्टा। यानी नई प्याज की आमद शुरू होने के बाद भी एक बार फिर से कीमत में भारी उछाल आ चुका है। 70 से 80 रुपये किलो तक पहुंच चुके प्याज ने लोगों को रूलाना शुरू कर दिया है। अभी तक तो अर्क से प्याज काटने वालों के आंखों से आंसू निकलते थे, लेकिन अब प्याज का भाव ही आंसू निकालने लगा है।

-------------

बजट गड़बड़ाया, ग्राहकों में हाहाकार

- यूं तो प्याज हर घर की जरूरत है। प्रतिदिन सब्जी के लेकर दाल तक में तड़का लगाने में इसका उपयोग किया जा रहा है। ऐसे में इसकी महंगाई के चलते प्याज का तड़का लगाना गृहणियां भूल गई हैं। बजट गड़बड़ हो चुका है। उधर शादी-विवाह के चल रहे इस मौसम में प्याज की कीमतों में भारी उछाल से ग्राहकों की दिक्कत बढ़ गई है। वैवाहिक आयोजनों वाले परिवारों में हाहाकार की स्थिति बन चुकी है।

---------

बंगलुरू व राजस्थान की आ रही प्याज

- मुंडेरा मंडी प्रयागराज में आलू व प्याज का थोक व्यापार कर रहे लालचंद कुशवाहा ने बताया कि अभी नासिक से नई प्याज की आमद नहीं शुरू हुई है। बंगलुरू व राजस्थान से प्याज आ रही है। वहीं से 60 रुपये किलो तक में प्याज उठ रही है। शुक्रवार को मुंडेरा मंडी से ही 75 रुपये किलो की दर से प्याज का उठान हुआ है। ऐसे में फुटकर कीमत और भी बढ़ सकती है।

--------

गोपीगंज में खाली हुई मंडी समिति

- गोपीगंज नगर स्थित मंडी समिति पर शुक्रवार को प्याज गायब रहा। वहां थोक का व्यवसाय कर रहे व्यापारी अजहरुद्दीन ने बताया कि महंगाई के चलते प्याज बेचना मुश्किल हो गया है। इसके साथ ही दाम में लगातार उतार-चढ़ाव भी जारी है। इससे व्यापारी असमंजस में है। प्याज नहीं ला रहे हैं। इसी तरह मंडी के थोक व्यापारी शाहीनूर जावेद बारिश के चलते बाहर से आने वाला माल नहीं आ रहा है। इसके कारण प्याज महंगा है। जब तक पर्याप्त मात्रा में नई प्याज की आमद नहीं होगी दाम में उतार-चढ़ाव जारी रहेगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप