जागरण संवाददाता, सुरियावां (भदोही): अब थानों में फर्जी रिपोर्ट लिखवाने वालों की खैर नहीं होगी। शासन के निर्देश पर पुलिस अधीक्षक राजेश एस ने बदायूं मॉडल को जिले में भी प्रभावी करने के लिए स्टेशन अफसरों को निर्देशित कर दिया है। इसके तहत थानों में एक नोटिस बोर्ड लगाए जाएंगे। इस पर फर्जी मुकदमा दर्ज कराने वाले के साथ ही साथ उसका भी नाम दर्ज कराया जाएगा जिसके खिलाफ गलत रिपोर्ट लिखवाई गई है। साथ ही ऐसे लोगों पर कठोर कार्रवाई भी की जाएगी। सुरियावां थाने में नोटिस बोर्ड लगाकर कार्रवाई भी शुरू कर दी गई है।

अक्सर देखा जाता है कि पुरानी रंजिश आदि को लेकर लोग थानों में पहुंचकर फर्जी रिपोर्ट लिखवा देते हैं। विवेचना अधिकारी जांच के दौरान उस व्यक्ति को निर्दोष पाते हुए भी जानकारी नहीं देते थे। इसके लिए एक निर्दोष व्यक्ति कई महीने तक थाने से लेकर कोर्ट में चक्कर काटता रहता था। फर्जी रिपोर्ट लिखाने वालों पर पुलिस ने शिकंजा कस दिया है। पुलिस अधीक्षक ने बदायूं मॉडल को प्रभावी करने के लिए सभी थानों में नोटिस बोर्ड लगाने का निर्देश दिया है। इस नोटिस बोर्ड के निचले हिस्से में उस व्यक्ति का नाम दर्ज किया जाएगा जिसने फर्जी तरीके से रिपोर्ट दर्ज कराया है। इसके ऊपरी हिस्से में उसका नाम दर्ज किया जाएगा जिसके खिलाफ झूठी रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। इसके साथ ही जांच अधिकारी को भी एक सप्ताह के अंदर इसकी जानकारी भी उस व्यक्ति को उपलब्ध कराई जाएगी जिसके खिलाफ फर्जी मुकदमा दर्ज कराया गया है। अपर पुलिस अधीक्षक डॉ संजय कुमार ने बताया कि शासन के निर्देश पर बदायूं मॉडल को जिले में भी प्रभावी किया गया है। झूठी रिपोर्ट दर्ज कराने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही समय-समय पर मीडिया को भी इस संबंध में जानकारी दी जाती रहेगी।

Posted By: Jagran