केस 1 : चौरी रोड ब्लाक कार्यालय के बगल से जल्लापुर नईबस्ती को जाने वाले मार्ग पर जलजमाव की स्थिति है। कुछ स्थानों पर जलजमाव है। कई इलाके कीचड़ से सने हुए हैं। पांव रखना भी मुश्किल है यहां। मोहल्ले के लोगों का आवागमन मुश्किल हो गया है। राहगीर पानी व कीचड़ से होकर आवागमन करने को विवश है। विशेषकर उक्त क्षेत्र के छात्र-छात्राओं का विद्यालय, कालेज आवागमन बाधित हो गया है। मोहल्ले में आवागमन के लिए कोई दूसरा रास्ता भी नहीं है। केस 2 : स्टेशन रोड से अयोध्यापुरी कालोनी होते हुए जलालपुर मार्ग की हालत बहुत खराब है। पिछले दिनों हुई जोरदार बारिश के बाद कीचड़ व जलजमाव ने लोगों को पैर बांध दिए हैं। पैदल राहगीर तो जैसे तैसे आवागमन कर रहे हैं चार पहिया वाहन तथा बाइक वाले बेबस होकर रह गए हैं। मार्ग निर्माण प्रक्रिया से गुजर रहा है। सीवर लाइनें डाल दी गई हैं लेकिन सड़क निर्माण के मामले में कार्यदाई संस्था की लेटलतीफी ने समस्या बढ़ा दी है।

---------

जागरण संवाददाता, भदोही : बारिश पूर्व जल निकासी व्यवस्था में फिसड्डी साबित हो चुका पालिका प्रशासन फिर भी कोई सबक नहीं ले रहा है। दो दिन से मौसम खुला है। बारिश नहीं हो रही है। नालों की सफाई व जलनिकासी व्यवस्था के प्रति कोई रूचि नहीं ली जा रही है। दो दिन पहले हुई घनघोर बारिश के चलते कई मोहल्ले कीचड़ और जलजमाव की जद में हैं, अब वहां पर जिदगी बीमारियों की जद में हैं। कारण कि पानी सूख रहा है और संक्रामक बीमारियां पांव पसारने लगी हैं।

---------

जलनिकासी व्यवस्था हो गई चौपट

शहर की जलनिकासी व्यवस्था को लेकर पालिका की उदासीनता जाहिर हो रही है। बारिश के दौरान उत्पन्न होने वाली समस्या से बार बार आगाह करने के बाद भी संज्ञान नहीं लिया गया। यही कारण है कि पिछले दिनों हुई जोरदार बारिश के बाद शहर के निचले मोहल्लों के साथ साथ प्रमुख मार्ग जलमग्न हो गए। मुख्य मार्ग तो जलजमाव से मुक्त हो गए लेकिन कई मोहल्लों में अब भी समस्या बनी हुई है।

Posted By: Jagran