जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : जिले के 561 ग्राम पंचायतों में 15वें वित्त आयोग के लिए वित्तीय वर्ष 2020-21 में क्या कार्य कराए जाने हैं। इसके लिये शासन ने पंचायत राज विभाग ने ग्राम पंचायतों से कार्य योजना मांगी है। कार्ययोजना तैयार कराकर ई-ग्राम स्वराज पोर्टल पर 31 मई तक अपलोड किया जाना था। ग्राम प्रधान व सचिव कार्ययोजना तैयार कर उसे अपलोड करने में रूचि नहीं दिखा रहे हैं। लापरवाही का आलम यह है कि महज दो दिन का समय शेष रह गया हैं लेकिन 558 गांवों की कार्ययोजना अपलोड नहीं हो सकी है। मात्र तीन ग्राम पंचायतों की कार्ययोजना ई-ग्राम स्वराज पोर्टल पर अपलोड हो सकी है। अब विभाग इसे लेकर सख्त रुख अख्तियार कर चुका है। शीघ्र कार्ययोजना अपलोड ने करने वाले प्रधान व सचिवों के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी दी गई है।

भारत सरकार की वेबसाइट ई-ग्राम स्वराज पोर्टल ने कार्य करना शुरू कर दिया है। सभी ग्राम प्रधान व सचिवों को अपनी वर्ष 2020-21 की कार्ययोजना 31 मई अपलोड करने का निर्देश था। इसके तहत ग्राम पंचायत की बैठक में कार्ययोजना अनुमोदित कराकर जीपीडीपी बेबसाइट पर फैसिलेटर फीडबैक व ग्राम पंचायतों के बैठक की फोटो अपलोड करने के बाद 31 मई तक ई-ग्राम स्वराज पोर्टल पर अपलोड करना था। इसके बाद भी मात्र सुरियावां ब्लाक के दो और औराई ब्लाक से एक ग्राम पंचायत की कार्ययोजना ही अपलोड हो सकी है। डीपीआरओ बालेशधर द्विवेदी ने सभी सहायक विकास अधिकारियों को ग्राम पंचायतों की कार्ययोजना निर्धारित तिथि तक अपलोड कराने का निर्देश दिया है। इसी के साथ पुराने अवशेष भुगतान को भी कर लेने का निर्देश दिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस