जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : विकास के लिए ग्राम पंचायतों में भेजे गए सरकारी धन मनमानी तौर पर बंदरबांट का खेल बखूबी चल रहा है। सुरियावां ब्लाक के जमुनीपुर, अठगवां गांव में विभिन्न मदों में भुगतान को लेकर जारी किए गए चेक पर मौजूद ग्राम प्रधान के हस्ताक्षर की फोरेंसिक जांच होगी। डीएम राजेंद्र प्रसाद ने इसके लिए अग्रणी जिला प्रबंधक को निर्देश जारी कर दिया गया है।

दरअसल, ग्राम पंचायत में विभिन्न तिथियों में अलग-अलग पक्ष में 4561930 रुपये के भुगतान के लिए कुल 55 चेक जारी किए गए हैं। ग्राम प्रधान कलावती ने गत सात जून 2019 को कोतवाली भदोही में तहरीर देकर ग्राम पंचायत विकास अधिकारी पर आरोप लगाया था कि उन्होंने उनका चेक पर फर्जी हस्ताक्षर कर धन आहरित कर दिया है। मामले में सेक्रेटरी संतोष कुमार के खिलाफ 419, 420 467 सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज है। अब चेक पर किए गए हस्ताक्षर फर्जी हैं या फिर आरोप झूठा लगाया गया है। इसकी सच्चाई परखने के लिए चेक पर मौजूद ग्राम प्रधान के हस्ताक्षर की फोरेंसिक जांच की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस